Home LAW धारा 357 क्या है | 357 IPC in Hindi | IPC Section...

धारा 357 क्या है | 357 IPC in Hindi | IPC Section 357

2636
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “ किसी व्यक्ति का सदोष परिरोध करने के प्रयत्नों में हमला या आपराधिक बल का प्रयोग| भारतीय दंड संहिता की धारा 357 क्या है | 357 Ipc in Hindi | IPC Section 357 | Assault or criminal force in attempt wrongfully to confine a person के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय दंड संहिता की धारा 357 क्या है | 357 Ipc in Hindi

[ Ipc Sec. 357 ] हिंदी में –

किसी व्यक्ति का सदोष परिरोध करने के प्रयत्नों में हमला या आपराधिक बल का प्रयोग–

जो कोई किसी व्यक्ति पर हमला या आपराधिक बल का प्रयोग उस व्यक्ति का सदोष परिरोध करने का प्रयत्न करने में करेगा, वह दोनों में से किसी भांति के कारावास से, जिसकी अवधि एक वर्ष तक की हो सकेगी, या जुर्माने से, जो एक हजार रुपए तक का हो सकेगा, या दोनों से, दण्डित किया जाएगा ।

357 Ipc in Hindi

[ Ipc Sec. 357 ] अंग्रेजी में –

“ Assault or criminal force in attempt wrongfully to confine a person ”–

Whoever assaults or uses criminal force to any person, in attempting wrongfully to confine that person, shall be pun­ished with imprisonment of either description for a term which may extend to one year, or with fine which may extend to one thousand rupees, or with both.

357 Ipc in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here