Home LAW कंपनी अधिनियम धारा 104 | Section 104 of Companies Act in Hindi

कंपनी अधिनियम धारा 104 | Section 104 of Companies Act in Hindi

1002
0

आजके इस आर्टिकल में मै आपको ” अधिवेशनों का सभापति | Chairman of meetings | कंपनी अधिनियम धारा 104  | Section 104 of Companies Act in Hindi | कंपनी अधिनियम की धारा 104  के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

Section 104 of Companies Act in Hindi

[ Companies Act Sec. 104 in Hindi ] –

अधिवेशनों का सभापति –

(1) जब तक कि कंपनी के अनुच्छेदों में अन्यथा उपबंधित न हो, अधिवेशन में वैयक्तिक रूप से उपस्थित सदस्य हाथ उठाकर अपने में से एक सदस्य को सभापति निर्वाचित करेंगे |

(2) यदि सभापति के निर्वाचन के संबंध में मतदान की मांग की जाती है तो वह इस अधिनियम के उपबंधों के अनुसार तुरंत कराया जाएगा और उपधारा (1) के अधीन हाथ उठाकर निर्वाचित हुआ सभापति तब तक अधिवेशन का सभापति बना रहेगा, जब – तक मतदान के परिणामस्वरूप कोई अन्य व्यक्ति सभापति निर्वाचित नहीं होता है और ऐसा अन्य व्यक्ति शेष अधिवेशन के लिए सभापति होगा ।

कंपनी अधिनियम  धारा 104

[ Companies Act Section 104 in English ] –

Chairman of meetings”–

(1) Unless the articles of the company otherwise provide, the
members personally present at the meeting shall elect one of themselves to be the Chairman thereof on a show of hands.
(2) If a poll is demanded on the election of the Chairman, it shall be taken forthwith in accordance with the provisions of this Act and the Chairman elected on a show of hands under sub-section (1) shall continue to be the Chairman of the meeting until some other person is elected as Chairman as a result of the poll, and such other person shall be the Chairman for the rest of the meeting.

कंपनी अधिनियम धारा 104


कंपनी अधिनियम 2013  

PDF download in Hindi

Companies Act 2013 PDF

Pdf download in English 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here