Home LAW धारा 7 Crpc | Section 7 CrPC in Hindi | CrPC Section...

धारा 7 Crpc | Section 7 CrPC in Hindi | CrPC Section 7

1719
0
section 7 Crpc in Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “ प्रादेशिक खंड | दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 7 क्या है | section 7 Crpc in Hindi | CRPC Section 7 | Territorial divisions के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 7 |  Section 7 in The Code Of Criminal Procedure

[ Crpc Sec. 7 in Hindi ] –

प्रादेशिक खंड-

(1) प्रत्येक राज्य एक सेशन खंड होगा या उसमें सेशन खंड होंगे और इस संहिता के प्रयोजनों के लिए प्रत्येक सेशन खंड एक जिला होगा या उसमें जिले होंगे :

परंतु प्रत्येक महानगर क्षेत्र, उक्त प्रयोजनों के लिए, एक पृथक् सेशन खंड और जिला होगा।

(2) राज्य सरकार उच्च न्यायालय से परामर्श के पश्चात्, ऐसे खंडों और जिलों की सीमाओं या संख्या में परिवर्तन कर सकती है।

(3) राज्य सरकार उच्च न्यायालय से परामर्श के पश्चात्, किसी जिले को उपखंडों में विभाजित कर सकती है और ऐसे उपखंडों की सीमाओं या संख्या में परिवर्तन कर सकती है।

(4) किसी राज्य में इस संहिता के प्रारंभ के समय विद्यमान सेशन खंड, जिले और उपखंड इस धारा के अधीन बनाए गए समझे जाएंगे।

धारा 7 Crpc

[ Crpc Sec. 7 in English ] –

“ Territorial divisions ”–

(1) Every State shall be a sessions division or shall consist of sessions divisions; and every sessions division shall, for the purposes of this Code, be a district or consist of districts: Provided that every metropolitan area shall, for the said purposes, be a separate sessions division and district.
(2) The State Government may, after consultation with the High Court, alter the limits or the number of such divisions and districts.
(3) The State Government may, after consultation with the High Court, divide any district into sub- divisions and may alter the limits or the number of such sub- divisions.
(4) The sessions divisions, districts and sub- divisions existing in a State at the commencement of this Code, shall be deemed to have been formed under this section.

धारा 7 Crpc

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here