Home LAW धारा 405 CrPC | Section 405 CrPC in Hindi | CrPC Section...

धारा 405 CrPC | Section 405 CrPC in Hindi | CrPC Section 405

1658
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “उच्च न्यायालय के आदेश का प्रमाणित करके निचले न्यायालय को भेजा जाना | दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 405 क्या है | section 405 CrPC in Hindi | Section 405 in The Code Of Criminal Procedure | CrPC Section 405 | High Courts’ order to be certified to lower Court के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 405 |  Section 405 in The Code Of Criminal Procedure

[ CrPC Sec. 405 in Hindi ] –

उच्च न्यायालय के आदेश का प्रमाणित करके निचले न्यायालय को भेजा जाना—

जब उच्च न्यायालय या सेशन न्यायाधीश द्वारा कोई मामला इस अध्याय के अधीन पुनरीक्षित किया जाता है तब वह धारा 388 द्वारा उपबंधित रीति से अपना विनिश्चय या आदेश प्रमाणित करके उस न्यायालय को भेजेगा, जिसके द्वारा पुनरीक्षित निष्कर्ष, दंडादेश या आदेश अभिलिखित किया गया या पारित किया गया था, और तब वह न्यायालय, जिसे विनिश्चय या आदेश ऐसे प्रमाणित करके भेजा गया है ऐसे आदेश करेगा, जो ऐसे प्रमाणित विनिश्चय के अनुरूप है और यदि आवश्यक हो तो अभिलेख में तद्नुसार संशोधन कर दिया जाएगा।

धारा 405 CrPC

[ CrPC Sec. 405 in English ] –

“High Courts’ order to be certified to lower Court ”–

When a case is revised under this Chapter by the High Court or a Sessions Judge, it or he shall, in the manner provided by section 388, certify its decision or order to the Court by which the finding, sentence or order revised was recorded or passed, and the Court to which the decision or order is so certified shall thereupon make such orders as are conformable to the decision so certified; and, if necessary, the record shall be amended in accordance therewith.

धारा 405 CrPC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here