Home LAW धारा 288 CrPC | Section 288 CrPC in Hindi | CrPC Section...

धारा 288 CrPC | Section 288 CrPC in Hindi | CrPC Section 288

1890
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “कमीशन का लौटाया जाना | दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 288 क्या है | section 288 CrPC in Hindi | Section 288 in The Code Of Criminal Procedure | CrPC Section 288 | Return of commissionके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 288 |  Section 288 in The Code Of Criminal Procedure

[ CrPC Sec. 288 in Hindi ] –

कमीशन का लौटाया जाना—

(1) धारा 284 के अधीन जारी किए गए किसी कमीशन के सम्यक रूप से निष्पादित किए जाने के पश्चात् वह उसके अधीन परीक्षित साक्षियों के अभिसाक्ष्य सहित उस न्यायालय या मजिस्ट्रेट को, जिसने कमीशन जारी किया था, लौटाया जाएगा; और वह कमीशन, उससे संबद्ध विवरणी और अभिसाक्ष्य सब उचित समयों पर पक्षकारों के निरीक्षण के लिए प्राय होंगे, और सब न्यायसंगत अपवादों के अधीन रहते हुए, किसी पक्षकार द्वारा मामले में साक्ष्य पड़े जा सकेंगे और अभिलेख का भाग होंगे।

(2) यदि ऐसे लिया गया कोई अभिसाक्ष्य, भारतीय साक्ष्य अधिनियम, 1872 (1872 का 1) की धारा 33 द्वारा विहित शर्तों को पूरा करता है, तो वह किसी अन्य न्यायालय के समक्ष भी मामले के किसी पश्चात्वर्ती प्रक्रम में साक्ष्य में लिया जा सकेगा।

धारा 288 CrPC

[ CrPC Sec. 288 in English ] –

“ Return of commission”–

  1. After any commission issued under section 284 has been duly executed, it shall be returned, together with the deposition of the witness examined thereunder, to the Court or Magistrate issuing the commission; and the commission, the return thereto and the deposition shall be open at all reasonable times to inspection of the parties, and may, subject to all just exceptions, be read in evidence in the case by either party, and shall form part of the record.
  2. Any deposition so taken, if it satisfies the conditions prescribed by section 33 of the Indian Evidence Act, 1872 (1 of 1872) may also be received in evidence at any subsequent stage of the case before another Court.

धारा 288 CrPC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here