Home LAW धारा 265i CrPC | Section 265i CrPC in Hindi | CrPC Section...

धारा 265i CrPC | Section 265i CrPC in Hindi | CrPC Section 265i

1147
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “अभियुक्त द्वारा भोगी गई निरोध की अवधि का कारावास के दंडादेश के विरुद्ध मुजरा किया जाना  | दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 265i क्या है | section 265i CrPC in Hindi | Section 265i in The Code Of Criminal Procedure | CrPC Section 265i | Period of detention undergone by the accused to be set off against the sentence of imprisonmentके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 265i |  Section 265i in The Code Of Criminal Procedure

[ CrPC Sec. 265i in Hindi ] –

अभियुक्त द्वारा भोगी गई निरोध की अवधि का कारावास के दंडादेश के विरुद्ध मुजरा किया जाना—

इस अध्याय के अधीन अधिरोपित कारावास के दंडादेश के विरुद्ध अभियुक्त द्वारा भोगी गई निरोध की अवधि का मुजरा किए जाने के लिए धारा 428 के उपबंध उसी रीति से लागू होंगे जैसे कि वह इस संहिता के किन्हीं अन्य उपबंधों के अधीन कारावास के संबंध में लागू होते हैं।

धारा 265i CrPC

[ CrPC Sec. 265i in English ] –

“ Period of detention undergone by the accused to be set off against the sentence of imprisonment ”–

The provisions of section 428 shall apply, for setting off the period of detention undergone by the accused against the sentence of imprisonment imposed under this Chapter, in the same manner as they apply in respect of the imprisonment under other provisions of this Code.

धारा 265i CrPC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here