Home LAW धारा 261 CrPC | Section 261 CrPC in Hindi | CrPC Section...

धारा 261 CrPC | Section 261 CrPC in Hindi | CrPC Section 261

1868
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “द्वितीय वर्ग के मजिस्ट्रेटों द्वारा संक्षिप्त विचारण | दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 261 क्या है | section 261 CrPC in Hindi | Section 261 in The Code Of Criminal Procedure | CrPC Section 261 |  Summary trial by magistrate of the second class के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 261 |  Section 261 in The Code Of Criminal Procedure

[ CrPC Sec. 261 in Hindi ] –

द्वितीय वर्ग के मजिस्ट्रेटों द्वारा संक्षिप्त विचारण-

उच्च न्यायालय किसी ऐसे मजिस्ट्रेट को, जिसमें द्वितीय वर्ग मजिस्ट्रेट की शक्तियां निहित हैं, किसी ऐसे अपराध का, जो केवल जुर्माने से या जुर्माने सहित या रहित छह मास से अनधिक के कारावास से दंडनीय है और ऐसे किसी अपराध के दुप्रेरण या ऐसे किसी अपराध को करने के प्रयत्न का संक्षेपतः विचारण करने की शक्ति प्रदान कर सकता है।

धारा 261 CrPC

[ CrPC Sec. 261 in English ] –

“ Summary trial by magistrate of the second class”–

 The High Court may confer on any Magistrate invested with the powers of a Magistrate of the second class power to try summarily any offence which is punishable only with fine or with imprisonment for a term not exceeding six months with or without fine, and any abetment of or attempt to commit any such offence.

धारा 261 CrPC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here