Home LAW धारा 355 क्या है | 355 ipc in hindi | Dhara 355...

धारा 355 क्या है | 355 ipc in hindi | Dhara 355 ipc in hindi

1294
0
355 ipc in hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “ गम्भीर प्रकोपन होने से अन्यथा किसी व्यक्ति का अनादर करने के आशय से उस पर हमला या आपराधिक बल का प्रयोग | धारा 355 क्या है | 355 ipc in hindi ” के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

गम्भीर प्रकोपन होने से अन्यथा किसी व्यक्ति का अनादर करने के आशय से उस पर हमला या आपराधिक बल का प्रयोग | धारा 355 क्या है | 355 ipc in hindi

भारतीय दंड संहिता की धारा 355 के अनुसार –

गम्भीर प्रकोपन होने से अन्यथा किसी व्यक्ति का अनादर करने के आशय से उस पर हमला या आपराधिक बल का प्रयोग-जो कोई किसी व्यक्ति पर हमला या आपराधिक बल का प्रयोग उस व्यक्ति द्वारा गम्भीर और अचानक प्रकोपन दिए जाने पर करने से अन्यथा, इस आशय से करेगा कि तदद्वारा उसका अनादर किया जाए, वह दोनों में से किसी भांति के कारावास से, जिसकी अवधि दो वर्ष तक की हो सकेगी, या जुर्माने से, या दोनों से, दण्डित किया जाएगा।

355 ipc | Section 355 in The Indian Penal Code

Assault or criminal force with intent to dishonour person, otherwise than on grave provocation.—Whoever assaults or uses criminal force to any person, intending thereby to dishonour that person, otherwise than on grave and sudden provocation given by that person, shall be punished with imprisonment of either de­scription for a term which may extend to two years, or with fine, or with both.

यदि आपका ” गम्भीर प्रकोपन होने से अन्यथा किसी व्यक्ति का अनादर करने के आशय से उस पर हमला या आपराधिक बल का प्रयोग | धारा 355 क्या है | 355 ipc in hindi  से सम्बंधित कोई प्रश्न है तो आप कमेट के माध्यम से हम से पूछ सकते हैं ।

 Madhyprdesh ki nadiya | मध्यप्रदेश की नदियाBUY  Madhyprdesh ki nadiya | मध्यप्रदेश की नदियाBUY

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here