Home LAW धारा 272 क्या है | 272 IPC in Hindi | IPC Section...

धारा 272 क्या है | 272 IPC in Hindi | IPC Section 272

5664
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “ विक्रय के लिए आशयित खाद्य या पेय का अपमिश्रण  | भारतीय दंड संहिता की धारा 272 क्या है | 272 Ipc in Hindi | IPC Section 272 | Adulteration of food or drink intended for sale के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय दंड संहिता की धारा 272 क्या है | 272 Ipc in Hindi

[ Ipc Sec. 272 ] हिंदी में –

विक्रय के लिए आशयित खाद्य या पेय का अपमिश्रण–

जो कोई किसी खाने या पीने की वस्तु को इस आशय से कि वह ऐसी वस्तु के खाद्य या पेय के रूप में बेचे या यह संभाव्य जानते हुए कि वह खाद्य या पेय के रूप में बेची जाएगी, ऐसे अपमिश्रित करेगा कि ऐसी वस्तु खाद्य या पेय के रूप में अपायकर बन जाए वह दोनों में से किसी भांति के कारावास से, जिसकी अवधि छह मास तक की हो सकेगी, या जुर्माने से, जो एक हजार रुपए तक का हो सकेगा, या दोनों से, दंडित किया जाएगा ।

272 Ipc in Hindi

[ Ipc Sec. 272 ] अंग्रेजी में –

“ Adulteration of food or drink intended for sale ”–

Whoever adulterates any article of food or drink, so as to make such article noxious as food or drink, intending to sell such article as food or drink, or knowing it to be likely that the same will be sold as food or drink, shall be punished with imprisonment of either description for a term which may extend to six months, or with fine which may extend to one thousand rupees, or with both.

272 Ipc in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here