Home ALL POST विनिर्दिष्ट अनुतोष अधिनियम 1963 | Specific relief act 1963 part 3

विनिर्दिष्ट अनुतोष अधिनियम 1963 | Specific relief act 1963 part 3

75
0
Specific relief act 1963 part 3

विनिर्दिष्ट अनुतोष अधिनियम 1963 वस्तुनिष्ट प्रश्नोत्तरी भाग – 3

Specific relief act 1963 part 3

(१)  विनिर्दिष्ट अनुतोष अधिनियम की धारा 6 के अंतर्गत कब्जे की पुनः प्राप्ति के वाद में –

अ- पूर्व आधिपत्य साबित करना आवश्यक होता है

ब- स्वत्व को साबित किया जाना आवश्यक नहीं होता

स- स्वत्व को सिद्ध करना आवश्यक होता है , पूर्व आधिपत्य नहीं

द- (अ) और (बी) दोनों

 

(२)  विनिर्दिष्ट अनुतोष अधिनियम की धारा 6 के अंतर्गत वाद में किसी भी आदेश या डिक्री को चुनौती दी जा सकती है –

अ- अपील द्वारा

ब- पुनरीक्षण द्वारा

स- पुनर्विलोकन द्वारा

द- अपील एवं पुनर्विलोकन द्वारा

Specific relief act 1963 part 3

(३)  धारा 6 के सम्बन्ध मी निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही है ?

अ- बेदखल किया गया व्यक्ति हक़ के आधार पर कब्ज़ा वापस प्राप्त कर सकता है

ब- बेदखल किया गया व्यक्ति केवल इस आधार पर कब्ज़ा वापस प्राप्त कर सकता है की वह कब्जे में था और उसे अविधिक सदोष बेदखल कर दिया गया था

स- बेदखल व्यक्ति को यह सिद्ध करना पड़ता है की उसे बेदखल करने वाले व्यक्ति की अपेक्षा बेहतर हक़ प्राप्त था

द- उपरोक्त सभी

 

(४)  धारा 6 के अंतर्गत निम्न में से कौन से उपचार के लिए प्रार्थना की जा सकती है ?

अ- कब्ज़ा वापस दिलाये जाने की

ब- कब्ज़ा वापस दिलाये जाने एवं प्रतिकर प्राप्त करने की

स- संपत्ति पर हक़ दिलवाए जाने की

द- उपरोक्त सभी

Specific relief act 1963 part 2

(५)  धारा 7 के अंतर्गत जंगम संपत्ति के कब्जे को प्राप्त करने के लिए निम्न में से कौन सा तत्व आवश्यक है ?

अ- वादी को कब्ज़ा प्राप्त करने का हक़ होना चाहिए

ब- संपत्ति ऐसी हो जो विनिश्चित करने योग्य हो

स- संपत्ति ऐसी हो जिसका अभिग्रहण करके परिदान किया जा सकता हो

द- उपरोक्त सभी

(६)  धारा 8 के सम्बन्ध में कौन सा कथन सही है ?

अ- डिक्री वस्तु के मूल्य के बराबर धनराशी दिलवाने के लिए होती है

ब- किसी स्वामी के विरुद्ध वाद लाया जा सकता है

स- जो संपत्ति मांगी जा रही है उसकी हानि के लिए धनराशी के रूप में प्रतिकार पर्याप्त हो

द- वादी को संपत्ति पर तुरंत कब्ज़ा प्राप्त करने का अधिकार हो

Specific relief act 1963 part 2

(७)  निम्नलिखित में से किसका विनिर्दिष्ट पालन प्रवर्तनीय है ?

अ- किसी संविदा का , जबकि वह कार्य , जिसके करने का करार हुआ है किसी न्यास के पुर्णतः या भागतः पालन में हो

ब- न्यासी द्वारा अपनी शक्तियों के बाहर की गयी संविदा का

स- न्यासी द्वारा न्यास भंग में की गयी संविदा का

द- उपरोक्त सभी का

 

(८)  किस दशा में किसी भी संविदा का विनिर्दिष्ट पालन न्यायालय के विवेकानुसार प्रवर्तित कराया जा सकता है ?

अ- जबकि उस कार्य का , जीके करने का करार हुआ है अपालन द्वारा कारित वास्तविक नुकसान का अभिनिश्चय करने के लिए कोई मानक विधमान नहीं है

ब- जबकि वह कार्य , जिसके करने का करार हुआ है ऐसा है की उसके पालन के लिए धन के रूप में प्रतिकर यथायोग्य अनुतोष न पहुंचाता हो

स- वह संविदा जो अपनी प्रकृति से ही पर्यवसेय हो

द- उपरोक्त अ और बा दोनों का

Specific relief act 1963 part 3

(९)  कौन सी संविदा विनिर्दिष्ट्तः प्रवर्तित नहीं कराई जा सकती ?

अ- वह संविदा जिसके अनुपालन के लिए धन के रूप में प्रतिकर यथायोग्य अनुतोष नहीं है

ब- वह संविदा जो अपनी प्रकृति से ही पर्यवसेय नहीं है

स- जहाँ संविदा किसी ऐसे ऋण के प्र्तिसंदाय को पर्तिभुत करने के लिए , जिसे उधार लेने वाला ततक्षण प्रतिसंदत करने को रजा मंद न हो , बंधक निष्पादित करने या कोई अन्य प्रतिभूति देने के लिए हो

द- वह संविदा जिसके पालन में ऐसे सतत कर्तव्य का पालन अन्तर्वलित है जिसका न्यायालय पर्यवेक्षण न कर सके

(१०)  किसी संविदा का विनिर्दिष्ट पालन निम्नलिखित में से कौन अभिप्राप्त कर सकता है ?

अ- संविदा का कोई भी पक्षकार

ब- संविदा के किसी भी पक्षकार का हित प्रतिनिधि

स- संविदा के किसी भी पक्षकार का मालिक

द- उपरोक्त सभी

 Madhyprdesh ki nadiya | मध्यप्रदेश की नदिया

BUY

 Madhyprdesh ki nadiya | मध्यप्रदेश की नदिया

BUY

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here