Home LAW धारा 32 संविदा अधिनियम | Section 32 Indian Contract act in Hindi

धारा 32 संविदा अधिनियम | Section 32 Indian Contract act in Hindi

2604
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “ऐसी संविदाओं का प्रवर्तन जो किसी घटना के घटित होने पर समाश्रित हो | भारतीय संविदा अधिनियम की धारा 32 क्या है | Section 32 Indian Contract act in Hindi | Section 32 of Indian Contract act | धारा 32 भारतीय संविदा अधिनियम | Enforcement of contracts contingent on an event happeningके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय संविदा अधिनियम की धारा 32 |  Section 32 of Indian Contract act

[ Indian Contract act Sec. 32 in Hindi ] –

ऐसी संविदाओं का प्रवर्तन जो किसी घटना के घटित होने पर समाश्रित हो–

उन समाश्रित संविदाओं का प्रवर्तन, जो किसी अनिश्चित भावी घटना के घटित होने पर किसी बात को करने या न करने के लिए हो, विधि द्वारा नहीं कराया जा सकता यदि और जब तक वह घटना घटित न हो गई हो।

यदि वह घटना असम्भव हो जाए तो ऐसी संविदाएं शून्य हो जाती हैं।

दृष्टांत

(क) ख के क संविदा करता है कि यदि ग के मरने के पश्चात् क जीवित रहा तो वह ख का घोड़ा बरीद लेगा। इस संविदा का प्रवर्तन विधि द्वारा नहीं कराया जा सकता यदि और जब तक क के जीवन-काल में ग मर न जाए।

(ख) ख से क संविदा करता है कि यदि ग ने, जिससे घोड़ा बेचने की प्रस्थापना की गई है, उसे खरीदने से इन्कार कर दिया तो वह ख को वह घोड़ा विनिर्दिष्ट कीमत पर बेच देगा, इस संविदा का प्रवर्तन विधि द्वारा नहीं कराया जा सकता यदि और जब तक ग घोड़े को खरीदने से इन्कार न कर दे।

(ग) क यह संविदा करता है कि जब ग से ख विवाह कर लेगा तो ख को क नियत धनराशि देगा। ख से विवाह हुए बिना ग मर जाती है । संविदा शून्य हो जाती है।

धारा 32 Indian Contract act

[ Indian Contract act Sec. 32  in English ] –

“Enforcement of contracts contingent on an event happening”–

Contingent contracts to do or not to do anything if an uncertain future event happens cannot be enforced by law unless and until that event has happened.

If the event becomes impossible, such contracts become void.

Illustrations

(a) A makes a contract with B to buy B‟s horse if A survives C. This contract cannot be enforced by law unless and until C dies in A‟s lifetime.

(b) A makes a contract with B to sell a horse to B at a specified price, if C, to whom the horse has been offered, refuses to buy him. The contract cannot be enforced by law unless and until C refuses to buy the horse.

(c) A contracts to pay B a sum of money when B marries C. C dies without being married to B. The contract becomes void.

धारा 32 Indian Contract act

भारतीय संविदा अधिनियम 

Pdf download in hindi

Indian contract act 

Pdf download in English 

Section 1 of limitation act Section 1 of limitation act

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here