Home LAW धारा 26 परिसीमा अधिनियम | Section 26 of limitation act in Hindi

धारा 26 परिसीमा अधिनियम | Section 26 of limitation act in Hindi

2138
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “अनुसेवी सम्पत्ति के उत्तरभोगी के पक्ष में अपवर्जन | परिसीमा अधिनियम की धारा 26 क्या है | Section 26 limitation act in Hindi | Section 26 of limitation act | धारा 26 परिसीमा अधिनियम | Exclusion in favour of reversioner of servient tenementके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

परिसीमा अधिनियम की धारा 26 |  Section 26 of limitation act

[ limitation act Sec. 26 in Hindi ] –

अनुसेवी सम्पत्ति के उत्तरभोगी के पक्ष में अपवर्जन-

जहां कि कोई भूमि या जल जिसमें, जिसके ऊपर या जिससे कोई सुखाचार उपभुक्त या ब्युत्पन्न किया गया हो किसी आजीबन हित के अधीन या आधार पर या इतनी अवधि पर्यन्त जो उसके अनुदत्त किए जाने से तीन वर्ष से अधिक हो धारित रहा हो, वहां ऐसे सुखाचार का उपभोग जितने समय तक ऐसे हित या अवधि के चालू रहने के दौरान हुआ हो, उतना समय बीस वर्ष की कालावधि की संगणना में उस दशा में, अपवर्जित कर दिया जाएगा जिसमें उस पर के दावे का प्रतिरोध ऐसे हित या अवधि के पर्यवसान के अव्यवहित पश्चात् तीन वर्ष के अन्दर ऐसे व्यक्ति द्वारा किया जाए जो ऐसे पर्यवसान पर उक्त भूमि या जल का हकदार हो।

धारा 26 limitation act

[ limitation act Sec. 26  in English ] –

“Exclusion in favour of reversioner of servient tenement ”–

Where any land or water upon, over or from, which any easement has been enjoyed or derived has been held under or by virtue of any interest for life or in terms of years exceeding three years from the granting thereof the time of the enjoyment of such easement during the continuance of such interest or term shall be excluded in the computation of the period to twenty years in case the claim is, within three years next after the determination of such interests or term resisted by the person entitled on such determination to the said land or water. State Amendment

धारा 26 limitation act

Limitation act Pdf download in hindi

Section 1 of limitation act Section 1 of limitation act

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here