Home LAW धारा 209 संविदा अधिनियम | Section 209 Indian Contract act in Hindi

धारा 209 संविदा अधिनियम | Section 209 Indian Contract act in Hindi

1726
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “मालिक की मृत्यु या उन्मत्तता के द्वारा अभिकरण के पर्यवसान पर अभिकर्ता का कर्तव्य | भारतीय संविदा अधिनियम की धारा 209 क्या है | Section 209 Indian Contract act in Hindi | Section 209 of Indian Contract act | धारा 209 भारतीय संविदा अधिनियम | Agent’s duty on termination of agency by principal’s death or insanityके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय संविदा अधिनियम की धारा 209 |  Section 209 of Indian Contract act

[ Indian Contract act Sec. 209 in Hindi ] –

मालिक की मृत्यु या उन्मत्तता के द्वारा अभिकरण के पर्यवसान पर अभिकर्ता का कर्तव्य-

जबकि मालिक की मृत्यु हो जाने या उसके विकृतचित्त हो जाने से अभिकरण का पर्यवसान हो जाए तब अभिकर्ता अपने को न्यस्त हितों के संरक्षण और परिरक्षण के लिए अपने अभूतपूर्व मालिक के प्रतिनिधियों की ओर से सभी युक्तियुक्त कदम उठाने के लिए आबद्ध है।

धारा 209 Indian Contract act

[ Indian Contract act Sec. 209  in English ] –

“Agent’s duty on termination of agency by principal’s death or insanity”–

When an agency is terminated by the principal dying or becoming of unsound mind, the agent is bound to take, on behalf of the representatives of his late principal, all reasonable steps for the protection and preservation of the interests entrusted to him.

धारा 209 Indian Contract act

भारतीय संविदा अधिनियम 

Pdf download in hindi

Indian contract act 

Pdf download in English 

Section 1 of limitation act Section 1 of limitation act

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here