Home LAW धारा 196 संविदा अधिनियम | Section 196 Indian Contract act in Hindi

धारा 196 संविदा अधिनियम | Section 196 Indian Contract act in Hindi

1221
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “किसी व्यक्ति के लिए उसके प्राधिकार के बिना किए गए कार्यों के बारे में उसका अधिकार अनुसमर्थन का प्रभाव | भारतीय संविदा अधिनियम की धारा 196 क्या है | Section 196 Indian Contract act in Hindi | Section 196 of Indian Contract act | धारा 196 भारतीय संविदा अधिनियम | Right of person as to acts done for him without his authority. Effect of ratificationके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय संविदा अधिनियम की धारा 196 |  Section 196 of Indian Contract act

[ Indian Contract act Sec. 196 in Hindi ] –

किसी व्यक्ति के लिए उसके प्राधिकार के बिना किए गए कार्यों के बारे में उसका अधिकार अनुसमर्थन का प्रभाव-

जहां कि कार्य एक व्यक्ति द्वारा किसी अन्य व्यक्ति के निमित्त किन्तु उसके ज्ञान या प्राधिकार के बिना किए जाते हैं वहां वह निर्वाचित कर सकेगा कि ऐसे कार्यों का अनुसमर्थन करे या अनंगीकरण करे। यदि वह उनका अनुसमर्थन करे तो उन कार्यों के वैसे ही परिणाम होंगे मानो वे उसके प्राधिकार से किए गए थे।

धारा 196 Indian Contract act

[ Indian Contract act Sec. 196  in English ] –

“Right of person as to acts done for him without his authority. Effect of ratification”–

Where acts are done by one person on behalf of another, but without his knowledge or authority, he may elect to ratify or to disown such acts. If he ratify them, the same effects will follow as if they had been performed by his authority.

धारा 196 Indian Contract act

भारतीय संविदा अधिनियम 

Pdf download in hindi

Indian contract act 

Pdf download in English 

Section 1 of limitation act Section 1 of limitation act

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here