Home LAW धारा 124 CrPC | Section 124 CrPC in Hindi | CrPC Section...

धारा 124 CrPC | Section 124 CrPC in Hindi | CrPC Section 124

3395
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “ बंधपत्र की शेष अवधि के लिए प्रतिभूति | दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 124 क्या है | section 124 CrPC in Hindi | Section 124 in The Code Of Criminal Procedure | CrPC Section 124 | Security for unexpired period of bond के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 124 |  Section 124 in The Code Of Criminal Procedure

[ CrPC Sec. 124 in Hindi ] –

बंधपत्र की शेष अवधि के लिए प्रतिभूति—

(1) जब वह व्यक्ति, जिसको हाजिरी के लिए धारा 121 की उपधारा (3) के परंतुक के अधीन या धारा 123 की उपधारा (10) के अधीन समन या वारंट जारी किया गया है, मजिस्ट्रेट या न्यायालय के समक्ष हाजिर होता है या लाया जाता है तब वह मजिस्ट्रेट या न्यायालय ऐसे व्यक्ति द्वारा निष्पादित बंधपत्र को रद्द कर देगा और उस व्यक्ति को ऐसे बंधपत्र की अवधि के शेष भाग के लिए उसी भांति की, जैसी मूल प्रतिभूति थी, नई प्रतिभूति देने के लिए आदेश देगा।

(2) ऐसा प्रत्येक आदेश धारा 120 से धारा 123 तक की धाराओं के (जिसके अंतर्गत ये दोनों धाराएं भी है) प्रयोजनों के लिए, यथास्थिति, धारा 106 या धारा 117 के अधीन दिया गया आदेश समझा जाएगा।

धारा 124 CrPC

[ CrPC Sec. 124 in English ] –

“ Security for unexpired period of bond ”–

(1) When a person for whose appearance a summons or warrant has been issued under the proviso to sub- section (3) of section 121 or under sub- section (10) of section 123, appears or is brought before the Magistrate or Court, the Magistrate or Court shall cancel the bond executed by such person and shall order such person to give, for the unexpired portion of the term of such bond, fresh security of the same description as the original security.
(2) Every such order shall, for the purposes of section 120 to 123 (both inclusive), be deemed to be an order made under section 106 or section 117, as the case may be

धारा 124 CrPC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here