Home LAW धारा 93 क्या है | 93 Ipc in Hindi | IPC Section...

धारा 93 क्या है | 93 Ipc in Hindi | IPC Section 93

44
0
93 Ipc in Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “ सद्भावपूर्वक दी गई संसूचना | भारतीय दंड संहिता की धारा 93 क्या है | 93 Ipc in Hindi | IPC Section 93 | Communication made in good faith  के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय दंड संहिता की धारा 93 क्या है | 93 Ipc in Hindi

[ Ipc Sec. 93 ] हिंदी में –

 सद्भावपूर्वक दी गई संसूचना-

सद्भावपूर्वक दी गई संसूचना उस अपहानि के कारण अपराध नहीं है, जो उस व्यक्ति की हो जिसे वह दी गई है, यदि वह उस व्यक्ति के फायदे के लिए दी गई हो ।

दृष्टांत

क, एक शल्यचिकित्सक, एक रोगी को सद्भावपूर्वक यह संसूचित करता है कि उसकी राय में वह जीवित नहीं रह सकता । इस आघात के परिणामस्वरूप उस रोगी की मृत्यु हो जाती है | क ने कोई अपराध नहीं किया है, यद्यपि वह जानता था कि उस संसूचना से उस रोगी की मृत्यु कारित होना संभाव्य है ।

93 Ipc in Hindi

[ Ipc Sec. 93 ] अंग्रेजी में –

“Communication made in good faith ”–

No communication made in good faith is an offence by reason of any harm to the person to whom it is made, if it is made for the benefit of that person. Illustration A, a surgeon, in good faith, communicates to a patient his opin­ion that he cannot live. The patient dies in consequence of the shock. A has committed no offence, though he knew it to be likely that the communication might cause the patient’s death.

93 Ipc in Hindi

Previous articleधारा 92 क्या है | 92 Ipc in Hindi | IPC Section 92
Next articleधारा 94 क्या है | 94 Ipc in Hindi | IPC Section 94

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here