Home LAW धारा 277 क्या है | 277 IPC in Hindi | IPC Section...

धारा 277 क्या है | 277 IPC in Hindi | IPC Section 277

2627
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “लोक जल-स्रोत या जलाशय का जल कलुषित करना  | भारतीय दंड संहिता की धारा 277 क्या है | 277 Ipc in Hindi | IPC Section 277 | Fouling water of public spring or reservoir के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय दंड संहिता की धारा 277 क्या है | 277 Ipc in Hindi

[ Ipc Sec. 277 ] हिंदी में –

लोक जल-स्रोत या जलाशय का जल कलुषित करना-

जो कोई किसी लोक जल-स्रोत या जलाशय के जल को स्वेच्छया इस प्रकार भ्रष्ट या कलुषित करेगा कि वह उस प्रयोजन के लिए, जिसके लिए वह मामूली तौर पर उपयोग में आता हो, कम उपयोगी हो जाए. वह दोनों में से किसी भांति के कारावास से, जिसकी अवधि तीन मास तक की हो सकेगी, या जुर्माने से, जो पांच सौ रुपए तक का हो सकेगा, या दोनों से, दण्डित किया जाएगा |

277 Ipc in Hindi

[ Ipc Sec. 277 ] अंग्रेजी में –

“ Fouling water of public spring or reservoir ”–

Whoever volun­tarily corrupts or fouls the water of any public spring or reser­voir, so as to render it less fit for the purpose for which it is ordinarily used, shall be punished with imprisonment of either description for a term which may extend to three months, or with fine which may extend to five hundred rupees, or with both.

277 Ipc in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here