Home LAW धारा 228 क्या है | 228 IPC in Hindi | IPC Section...

धारा 228 क्या है | 228 IPC in Hindi | IPC Section 228

2705
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “ न्यायिक कार्यवाही में बैठे हुए लोक सेवक का साशय अपमान या उसके कार्य में विघ्न  | भारतीय दंड संहिता की धारा 228 क्या है | 228 Ipc in Hindi | IPC Section 228 | Intentional insult or interruption to public servant sitting in judicial proceeding के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय दंड संहिता की धारा 228 क्या है | 228 Ipc in Hindi

[ Ipc Sec. 228 ] हिंदी में –

न्यायिक कार्यवाही में बैठे हुए लोक सेवक का साशय अपमान या उसके कार्य में विघ्न-

जो कोई किसी लोक सेवक का उस समय, जब कि ऐसा लोक सेवक न्यायिक कार्यवाही के किसी प्रक्रम में बैठा हुआ हो, साशय कोई अपमान करेगा या उसके कार्य में कोई विघ्न डालेगा, वह सादा कारावास से, जिसकी अवधि छह मास तक की हो सकेगी, या जुर्माने से, जो एक हजार रुपए तक का हो सकेगा, या दोनों से, दंडित किया जाएगा ।

228 Ipc in Hindi

[ Ipc Sec. 228 ] अंग्रेजी में –

“ Intentional insult or interruption to public servant sitting in judicial proceeding ”–

Whoever intentionally offers any insult, or causes any interruption to any public servant, while such public servant is sitting in any stage of a judicial proceeding, shall be punished with simple imprisonment for a term which may extend to six months, or with fine which may extend to one thou­sand rupees, or with both.

228 Ipc in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here