धारा 189 क्या है | 189 IPC in Hindi | IPC Section 189

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “लोक सेवक को क्षति करने की धमकी भारतीय दंड संहिता की धारा 189 क्या है | 189 Ipc in Hindi | IPC Section 189 | Threat of injury to public servant के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय दंड संहिता की धारा 189 क्या है | 189 Ipc in Hindi

[ Ipc Sec. 189 ] हिंदी में –

लोक सेवक को क्षति करने की धमकी-

जो कोई किसी लोक सेवक को या ऐसे किसी व्यक्ति को जिससे उस लोक सेवक के हितबद्ध होने का उसे विश्वास हो, इस प्रयोजन से क्षति की कोई धमकी देगा कि उस लोक सेवक को उत्प्रेरित किया जाए कि वह ऐसे लोक सेवक के कृत्यों के प्रयोग से संसक्त कोई कार्य करे या करने से प्रविरत रहे, या करने में विलम्ब करे वह दोनों में से किसी भांति के कारावास से, जिसकी अवधि दो वर्ष तक की हो सकेगी, या जुर्माने से, या दोनों से, दंडित किया जाएगा।

189 Ipc in Hindi

[ Ipc Sec. 189 ] अंग्रेजी में –

“ Threat of injury to public servant ”–

Whoever holds out any threat of injury to any public servant, or to any person in whom he believes that public servant to be interested, for the purpose of inducing that public servant to do any act, or to forbear or delay to do any act, connected with the exercise of the public functions of such public servant, shall be punished with impris­onment of either description for a term which may extend to two years, or with fine, or with both.

189 Ipc in Hindi

Updated: March 30, 2020 — 9:30 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.