धारा 78 साक्ष्य अधिनियम | Section 78 of Indian Evidence Act Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “अन्य शासकीय दस्तावेजों का सबूत | साक्ष्य अधिनियम की धारा 78 क्या है | Section 78 Indian Evidence Act in Hindi | Section 78 of Indian Evidence Act | धारा 78 साक्ष्य अधिनियम | Proof of other official documents के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

साक्ष्य अधिनियम की धारा 78 |  Section 78 of Indian Evidence Act | Section 78 Indian Evidence Act in Hindi

[ Indian Evidence Act Section 78 in Hindi ] –

” अन्य शासकीय दस्तावेजों का सबूत “

निम्नलिखित लोक दस्तावेजें निम्नलिखित रूप से साबित की जा सकेंगी

(1) ‘केन्द्रीय सरकार] के किसी विभाग के, [या क्राउन रिप्रेजेन्टेटिव] या किसी राज्य सरकार के, या किसी राज्य सरकार के किसी विभाग के कार्य, आदेश या अधिसूचनाएं,

उन विभागों के अभिलेखों द्वारा, जो क्रमशः उन विभागों के मुख्य पदाधिकारियों द्वारा प्रमाणित हैं,

या किसी दस्तावेज द्वारा जो ऐसी किसी सरकार के गया यथास्थिति क्राउन रिप्रेजेन्टेटिव के आदेश द्वारा मुद्रित हुई तात्पर्यित है;

(2) विधान-मण्डलों की कार्यवाहियां,

क्रमशः इन निकायों के जर्नलों द्वारा या प्रकाशित अधिनियमों या संक्षिप्तियों द्वारा, या [सम्पृक्त सरकार के आदेश द्वारा] मुद्रित होना तात्पर्यित होने वाली प्रतियों द्वारा;

(3) हर मजेस्टी द्वारा या प्रिवी कौन्सिल द्वारा या ‘हर मजेस्टी की सरकार के किसी विभाग द्वारा निकाली गई उद्घोषणाएं, आदेश या विनियम,लन्दन गजट में अन्तर्विष्ट या कवीन्स प्रिंटर द्वारा मुद्रित होना तात्पर्यित होने वाली प्रतियों या उद्धरणों द्वारा;

(4) किसी विदेश की कार्यपालिका के कार्य या विधान मंडल की कार्यवाहिया,

उनके प्राधिकार से प्रकाशित, या उस देश में सामान्यतः इस रूप में गृहीत, जर्नलों द्वारा, या उस देश या प्रभु की मुद्रा के अधीन प्रमाणित प्रति द्वारा, या किसी केन्द्रीय अधिनियम में उनकी मान्यता द्वारा;

(5) [किसी राज्य] के नगरपालिक निकाय की कार्यवाहियां,ऐसी कार्यवाहियों की ऐसी प्रति द्वारा, जो उनके विधिक पालक द्वारा प्रमाणित है, या ऐसे निकाय के प्राधिकार से प्रकाशित हुई तात्पर्यित होने वाली किसी मुद्रित पुस्तक द्वारा;

(6) किसी विदेश की किसी अन्य प्रकार की लोक दस्तावेजें,मूल द्वारा या उसके विधिक पालक द्वारा प्रमाणित किसी प्रति द्वारा, जिस प्रति के साथ किसी नोटरी पब्लिक की, या [भारतीय कौन्सल] या राजनयिक अभिकर्ता की मुद्रा के अधीन यह प्रमाणपत्र है कि वह प्रति मूल की विधिक अभिरक्षा रखने वाले आफिसर द्वारा सम्यक् रूप से प्रमाणित है, तथा उस दस्तावेज की प्रकृति उस विदेश की विधि के अनुसार साबित किए जाने पर।

धारा 78 Indian Evidence Act

[ Indian Evidence Act Sec. 78 in English ] –

“Proof of other official documents”–

  The following public documents may be proved as follows:–– 

(1) Acts, orders or notifications of 1[the Central Government] in any of its departments, 2[or of the Crown Representative] or of any State Government or any department of any State Government, –– 

by the records of the departments, certified by the head of those departments respectively, 

or by any document purporting to be printed by order of any such Government 3[or, as the case may be, of the Crown Representative]; 

(2) the proceedings of the Legislatures,–– 

by the journals of those bodies respectively, or by published Acts or abstracts, or by copies purporting to be printed 3[by order of the Government concerned]; 

(3) proclamations, orders or regulations issued by 4[Her Majesty] or by the Privy Council, or by any department of 4[Her Majesty’s Government,–– 

by copies or extracts contained in the London Gazette, or purporting to be printed by the Queen’s Printer; 

(4) the Acts of the Executive or the proceedings of the Legislature of a foreign country, –– 

by journals published by their authority, or commonly received in that country as such, or by a copy certified under the seal of the country or sovereign, or by a recognition thereof in some 5[Central Act]: 

(5) the proceedings of a municipal body in 6[a State], –– 

by a copy of such proceedings, certified by the legal keeper thereof, or by a printed book purporting to be published by the authority of such body; 

(6) public documents of any other class in a foreign country, –– 

by the original, or by a copy certified by the legal keeper thereof, with a certificate under the seal of a Notary Public, or of 7[an Indian Consul] or diplomatic agent, that the copy is duly certified by the officer having the legal custody of the original, and upon proof of the character of the document according to the law of the foreign country.

धारा 78 Indian Evidence Act 

साक्ष्य अधिनियम  

Pdf download in hindi

Indian Evidence Act

Pdf download in English 

Ipc sectionsIpc sections
Section 67A of Indian Evidence ActIpc sections
Section 67A of Indian Evidence ActIpc sections
Section 67A of Indian Evidence ActIpc sections
Section 67A of Indian Evidence ActIpc sections
Section 67A of Indian Evidence Act

 

Updated: June 1, 2020 — 6:42 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.