Home LAW कंपनी अधिनियम धारा 61 | Section 61 of Companies Act in Hindi

कंपनी अधिनियम धारा 61 | Section 61 of Companies Act in Hindi

89
0
Section 61 of Companies Act in Hindi

आजके इस आर्टिकल में मैआपको ” लिमिटेड कंपनी की अपनी शेयर पूंजी में परिवर्तन जरने की शक्ति |  Power of limited company to alter its share capital | कंपनी अधिनियम धारा 61  | Section 61 of Companies Act in Hindi | कंपनी अधिनियम की धारा 61  के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

Section 61 of Companies Act in Hindi

[ Companies Act Sec. 61 in Hindi ] –

लिमिटेड कंपनी की अपनी शेयर पूंजी में परिवर्तन जरने की शक्ति-

(1) किसी लिमिटेड कंपनी को, जिसकी शेयर पूंजी है, यदि उसके अनुच्छेदों द्वारा इस प्रकार प्राधिकृत किया जाता है तो वह अपने साधारण अधिवेशन में अपने ज्ञापन में निम्नलिखित के लिए परिवर्तन कर सकेगी

(क) अपनी प्राधिकृत शेयर पूंजी में ऐसी रकम तक वृद्धि करने, जो वह समीचीन समझे;

(ख) अपनी सभी या किसी शेयर पूंजी को अपने विद्यमान शेयरों की अपेक्षा वृहत्तर रकम के शेयरों में समेकित और विभाजित करने के लिए: ..

परंतु ऐसा कोई समेकन और विभाजन, जिसके परिणामस्वरूप शेयर धारकों की मतदान प्रतिशतता में परिवर्तन होता है, तब तक प्रभावी नहीं होगा, जब तक विहित रीति में किए गए आवेदन पर अधिकरण द्वारा उसका अनुमोदन नहीं कर दिया जाता है;

(ग) अपने सभी या किन्हीं समादत्त शेयरों को स्टाक में संपरिवर्तित करने और उस स्टाक को किसी अंकित मूल्य के पूर्णतः समादत्त शेयरों में पुनः संपरिवर्तित करने;

(घ) अपने शेयरों या उनमें से किसी का ज्ञापन द्वारा नियत रकम से कम रकम के शेयरों में उपविभाजन करने, तथापि, उपविभाजन में प्रत्येक कम किए गए शेयर पर संदत्त रकम और असंदत्त रकम, यदि कोई हो, के बीच का अनुपात, वही होगा, जो उस शेयर की दशा में था, जिससे कम किया गया शेयर व्युत्पन्न हुआ है;

(ङ) ऐसे शेयर रद्द करने, जो उस निमित्त संकल्प के पारित होने की तारीख को नहीं लिए गए थे या किसी व्यक्ति द्वारा लिए जाने के लिए सहमत किए गए थे

और इस प्रकार रद्द शेयरों की रकम से अपनी शेयर पूंजी की रकम को कम करने।

(2) उपधारा (1) के अधीन शेयरों के रद्दकरण को शेयर पूंजी की कमी होना नहीं समझा जाएगा ।

कंपनी अधिनियम धारा 61

[ Companies Act Section 61 in English ] –

 Power of limited company to alter its share capital”–

(1) A limited company having a share  capital may, if so authorised by its articles, alter its memorandum in its general meeting to— 

(a) increase its authorised share capital by such amount as it thinks expedient; 

(b) consolidate and divide all or any of its share capital into shares of a larger amount than its  existing shares: 

Provided that no consolidation and division which results in changes in the voting percentage of  shareholders shall take effect unless it is approved by the Tribunal on an application made in the  prescribed manner; 

(c) convert all or any of its fully paid-up shares into stock, and reconvert that stock into fully  paid-up shares of any denomination; 

(d) sub-divide its shares, or any of them, into shares of smaller amount than is fixed by the  memorandum, so, however, that in the sub-division the proportion between the amount paid and the  amount, if any, unpaid on each reduced share shall be the same as it was in the case of the share from  which the reduced share is derived; 

(e) cancel shares which, at the date of the passing of the resolution in that behalf, have not been  taken or agreed to be taken by any person, and diminish the amount of its share capital by the amount  of the shares so cancelled. 

(2) The cancellation of shares under sub-section (1) shall not be deemed to be a reduction of share  capital. 

कंपनी अधिनियम धारा 61


कंपनी अधिनियम 2013  

PDF download in Hindi

Companies Act 2013 PDF

Pdf download in English 


Section 1 Forest Act in Hindi Section 1 Forest Act in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here