Home LAW धारा 60a सम्पत्ति अन्तरण | Section 60a of Transfer of property Act

धारा 60a सम्पत्ति अन्तरण | Section 60a of Transfer of property Act

734
0
Section 60a of Transfer of property Act

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “बंधककर्ता को प्रति-अंतरण करने के बजाय किसी तृतीय पक्षकारो को अंतरण करने की बाध्यता | सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम की धारा 60a क्या है | Section 60a Transfer of property Act in hindi | Section 60a of Transfer of property Act | धारा 60a सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम | Obligation to transfer to third party instead of retransference to mortgagor के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम की धारा 60a |  Section 60a of Transfer of property Act | Section 60a Transfer of property Act in Hindi

[ Transfer of property Act Section 60a in Hindi ] –

बंधककर्ता को प्रति-अंतरण करने के बजाय किसी तृतीय पक्षकारो को अंतरण करने की बाध्यता–

(1) जहाँ कि बंधककर्ता मोचन के लिए हकदार है, वहां उन किन्हीं भी शर्तों की पूर्ति पर, जिनकी पूर्ति पर वह प्रति-अंतरण कराने की अपेक्षा करने का हकदार हो जाता है, वह बंधकदार से यह अपेक्षा कर सकेगा कि वह उस सम्पत्ति को प्रति-अंतरित करने के बजाय, ऐसे अन्य ब्यक्ति को, जिसे बंधककर्ता निर्दिष्ट करे, बंधक ऋण समुनदेशित करे और बंधक-सम्पत्ति अंतरित करे, तथा बंधकदार तदनुसार समनुदेशन और अंतरण करने के लिए आबद्ध होगा।

(2) इस धारा द्वारा प्रदत्त अधिकार बंधककर्ता और विल्लंगमदार के होंगे और किसी मध्यवर्ती विल्लंगम के होते हुए भी बंधककर्ता द्वारा या किसी विल्लंगमदार द्वारा प्रवर्तित कराए जा सकेंगे, किन्तु किसी विल्लंगमदार द्वारा की गई अपेक्षा बंधककर्ता द्वारा की गई अपेक्षा पर अभिभावी होगी और जहां तक बिल्लंगमदारों के बीच का संबंध है पूर्विक विल्लंगमदारों की अपेक्षा पाश्चिक विल्लंगमदार की अपेक्षा पर अभिभावी होगी।

(3) इस धारा के उपबंध उस बंधकदार के बारे में लागू नहीं होते जिसका कब्जा है या रहा है।

धारा 60a Transfer of property Act

[ Transfer of property Act Sec. 60a in English ] –

“Obligation to transfer to third party instead of retransference to mortgagor ”–

(1)Where a mortgagor is entitled to redemption, then, on the fulfilment of any conditions on the fulfilment of which he would be entitled to require a re-transfer, he may require the mortgagee, instead of re-transferring the property, to assign the mortgage-debt and transfer the mortgaged property to such third person as the mortgagor may direct; and the mortgagee shall be bound to assign and transfer accordingly. 

(2) The rights conferred by this section belong to and may be enforced by the mortgagor or by any encumbrancer notwithstanding an intermediate encumbrance: but the requisition of any encumbrancer shall prevail over a requisition of the mortgagor and, as between encumbrancers, the requisition of a prior encumbrancer shall prevail over that of a subsequent encumbrancer. 

(3) The provisions of this section do not apply in the case of a mortgagee who is or has been in possession.

धारा 60a Transfer of property Act 

सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम  

Pdf download in hindi

Transfer of property Act

Pdf download in English 

Pocso Act sections list Domestic violence act sections list

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here