Home LAW धारा 6 विनिर्दिष्ट अनुतोष | Section 6 of Specific relief act in...

धारा 6 विनिर्दिष्ट अनुतोष | Section 6 of Specific relief act in Hindi

5112
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “स्थावर सम्पत्ति से बेकब्जा किए गए व्यक्ति द्वारा वाद | विनिर्दिष्ट अनुतोष अधिनियम की धारा 6 क्या है | Section 6 Specific relief act in Hindi | Section 6 of Specific relief act | धारा 6 विनिर्दिष्ट अनुतोष अधिनियम | Suit by person dispossessed of immovable property के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

विनिर्दिष्ट अनुतोष अधिनियम की धारा 6 |  Section 6 of Specific relief act

[ Specific relief act Sec. 6 in Hindi ] –

स्थावर सम्पत्ति से बेकब्जा किए गए व्यक्ति द्वारा वाद-

(1) यदि कोई व्यक्ति अपनी सम्पत्ति के बिना स्थावर सम्पत्ति से विधि के सम्यक् अनुक्रम से अन्यथा बेकब्जा कर दिया जाए, तो वह अथवा उससे व्युत्पन्न अधिकार द्वारा दावा करने वाला कोई भी व्यक्ति, किसी अन्य ऐसे हक के होते हुए भी जो ऐसे बाद में खड़ा किया जा सके, उसका कब्जा वाद द्वारा प्रत्युद्धत कर सकेगा।

(2) इस धारा के अधीन कोई भी वाद

(क) बेकब्जा किए जाने की तारीख से छह मास के अवसान के पश्चात; अथवा

(ख) सरकार के विरुद्धः नहीं लाया जाएगा।

(3) इस धारा के अधीन संस्थित किसी भी वाद में पारित किसी भी आदेश या डिक्री से न तो कोई अपील होगी, और न ऐसे किसी आदेश या डिक्री का कोई पुनर्विलोकन ही अनुज्ञात होगा।

(4) इस धारा की कोई भी बात किसी भी व्यक्ति को ऐसी सम्पत्ति पर अपना हक स्थापित करने के लिए वाद लाने से और उसके कब्जे का प्रत्युद्धरण करने से वर्जित नहीं करेगी।

धारा 6 Specific relief act

[ Specific relief act Sec. 6 in English ] –

“Suit by person dispossessed of immovable property”–

(1) If any person is dispossessed without his consent of immovable property otherwise than in due course of law, he or any person claiming through him may, by suit, recover possession thereof, notwithstanding any other title that may be set up in such suit.

(2) No suit under this section shall be brought—

(a) after the expiry of six months from the date of dispossession; or

(b) against the Government.

(3) No appeal shall lie from any order or decree passed in any suit instituted under this section, nor shall any review of any such order or decree be allowed .

(4) Nothing in this section shall bar any person from suing to establish his title to such property and to recover possession thereof.

धारा 6 Specific relief act

Specific relief Act Pdf download in hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here