Home LAW कंपनी अधिनियम धारा 57 | Section 57 of Companies Act in Hindi

कंपनी अधिनियम धारा 57 | Section 57 of Companies Act in Hindi

82
0
Section 57 of Companies Act in Hindi

आजके इस आर्टिकल में मैआपको ” शेयर धारक के प्रतिरूपण के लिए दंड | Punishment for personation of shareholder | कंपनी अधिनियम धारा 57  | Section 57 of Companies Act in Hindi | कंपनी अधिनियम की धारा 57  के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

Section 57 of Companies Act in Hindi

[ Companies Act Sec. 57 in Hindi ] –

शेयर धारक के प्रतिरूपण के लिए दंड-

यदि कोई व्यक्ति प्रवंचना से किसी कंपनी में प्रतिभूतियों या हित या इस अधिनियम के अनुसरण में जारी किए गए किसी शेयर वारंट या कूपन के किसी स्वामी को प्रतिरूपित करेगा और उसके द्वारा कोई ऐसी प्रतिभूतियां या हित या शेयर वारंट या कोई कूपन अभिप्राप्त करेगा या अभिप्राप्त करने का प्रयास करेगा या ऐसे किसी स्वामी को शोध्य कोई धन प्राप्त करेगा या प्राप्त करने का प्रयास करेगा, तो वह ऐसी अवधि के कारावास से, जो एक वर्ष से कम की नहीं होगी, किंतु जो तीन वर्ष तक की हो सकेगी और जुर्माने से, जो एक लाख रुपए से कम का नहीं होगा, किंतु जो पांच लाख रुपए तक का हो सकेगा, दंडनीय होगा | .

कंपनी अधिनियम धारा 57

[ Companies Act Section 57 in English ] –

Punishment for personation of shareholder”–

If any person deceitfully personates as an owner  of any security or interest in a company, or of any share warrant or coupon issued in pursuance of this  Act, and thereby obtains or attempts to obtain any such security or interest or any such share warrant or coupon, or receives or attempts to receive any money due to any such owner, he shall be punishable with  imprisonment for a term which shall not be less than one year but which may extend to three years and  with fine which shall not be less than one lakh rupees but which may extend to five lakh rupees. 

कंपनी अधिनियम धारा 57


कंपनी अधिनियम 2013  

PDF download in Hindi

Companies Act 2013 PDF

Pdf download in English 


Section 1 Forest Act in Hindi Section 1 Forest Act in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here