भारतीय वन अधिनियम धारा 53 | Section 53 of Indian Forest Act in Hindi

आजके इस आर्टिकल में मैआपको ” धारा 52 के अधीन अभिगृहीत सम्पत्ति को निर्मुक्त करने की शक्ति | भारतीय वन अधिनियम धारा 53  | Section 53 of Indian Forest Act in Hindi | Section 53 Forest Act in Hindi | भारतीय वन अधिनियम की धारा 53 | Power to release property seized under section 52के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय वन अधिनियम धारा 53 | Section 53 of Indian Forest Act in Hindi

[ Indian Forest Act Section 53 in Hindi ] –

धारा 52 के अधीन अभिगृहीत सम्पत्ति को निर्मुक्त करने की शक्ति

रेंजर से अनिम्न पंक्ति वाला वन अधिकारी, जिसने या जिसके अधीनस्थ ने कोई औजार, नावें, छकड़े या ढोर धारा 52 के अधीन अभिगृहीत किए हैं, उन्हें उनके स्वामी द्वारा ऐसे बन्धपत्र निष्पादित किए जाने पर निर्मुक्त कर सकेगा कि यदि और जब मुझ से ऐसी अपेक्षा की जाएगी, तो और तब मैं इस प्रकार निर्मुक्त सम्पत्ति उस मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश कर दूंगा जिसको उस अपराध का, जिसके कारण अभिग्रहण हुआ है, विचारण करने की अधिकारिता प्राप्त है ।

भारतीय वन अधिनियम धारा 53

[ Indian Forest Act Section 53 in English ] –

Power to release property seized under section 52”–

Any Forest-officer of a rank not inferior to that of a Ranger who, or whose subordinate, has seized any tools, boats, carts or cattle under section 52, may release the same on the execution by the owner thereof a bond for the production of the property so released, if and when so required, before the Magistrate having jurisdiction to try the offence on account of which the seizure has been made. 

भारतीय वन अधिनियम धारा 53


भारतीय वन अधिनियम 1927  

PDF download in Hindi

Indian Forest Act 1927

PDF download in English 


Section 1 Forest Act in Hindi Section 1 Forest Act in Hindi
Updated: August 24, 2020 — 8:03 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.