भारतीय वन अधिनियम धारा 5 | Section 5 of Indian Forest Act in Hindi

आजके इस आर्टिकल में मैआपको “वन अधिकारों के प्रोद्भूत होने का वर्जन | भारतीय वन अधिनियम धारा 5  | Section 5 of Indian Forest Act in Hindi | Section 5 Forest Act in Hindi | भारतीय वन अधिनियम की धारा 5 | Bar of accrual of forest-rightsके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय वन अधिनियम धारा 5 | Section 5 of Indian Forest Act in Hindi

[ Indian Forest Act Section 5 in Hindi ] –

वन अधिकारों के प्रोद्भूत होने का वर्जन

धारा 4 के अधीन अधिसूचना निकाले जाने के पश्चात् ऐसी अधिसूचना में समाविष्ट भूमि में या उस भूमि पर कोई अधिकार, उत्तराधिकार के जरिए या सरकार द्वारा या ऐसे व्यक्ति द्वारा या उनकी ओर से, जिसमें ऐसा अधिकार निहित था, जबकि अधिसूचना निकाली गई थी, लिखित रूप में दिए गए अनुदान या की गई संविदा के अधीन अर्जित होने के सिवाय अर्जित न होगा और खेती या किसी अन्य प्रयोजन के लिए ऐसी भूमि में नई कटाई-सफाई ऐसे नियमों के अनुसार किए जाने के सिवाय न की जाएगी जैसे राज्य सरकार द्वारा इस निमित्त बनाए जाएं ।

भारतीय वन अधिनियम धारा 5

[ Indian Forest Act Section 5 in English ] –

Bar of accrual of forest-rights”–

After the issue of a notification under section 4, no right shall be acquired in or over the land comprised in such notification, except by succession or under a grant or contract in writing made or entered into by or on behalf of the Government or some person in whom such right was vested when the notification was issued; and no fresh clearings for cultivation or for any other purpose shall be made in such land except in accordance with such rules as may be made by the State Government in this behalf. 

भारतीय वन अधिनियम धारा 5


भारतीय वन अधिनियम 1927  

PDF download in Hindi

Indian Forest Act 1927

PDF download in English 


Section 1 Forest Act in Hindi Section 1 Forest Act in Hindi
Updated: August 23, 2020 — 9:43 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.