Home LAW धारा 429 CrPC | Section 429 CrPC in Hindi | CrPC Section...

धारा 429 CrPC | Section 429 CrPC in Hindi | CrPC Section 429

2353
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “व्यावृत्ति | दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 429 क्या है | section 429 CrPC in Hindi | Section 429 in The Code Of Criminal Procedure | CrPC Section 429 | Savingके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 429 |  Section 429 in The Code Of Criminal Procedure

[ CrPC Sec. 429 in Hindi ] –

व्यावृत्ति-

(1) धारा 426 या धारा 427 की कोई बात किसी व्यक्ति को उस दंड के किसी भाग से क्षम्य करने वाली न समझी जाएगी जिसका वह अपनी पूर्व या पश्चात्वर्ती दोषसिद्धि पर भागी है।

(2) जब जुर्माना देने में व्यतिक्रम होने पर कारावास का अधिनिर्णय कारावास के मुख्य दंडादेश के साथ उपाबद्ध है और दंडादेश भोगने वाले व्यक्ति को उसके निष्पादन के पश्चात् कारावास के अतिरिक्त मुख्य दंडादेश या अतिरिक्त मुख्य दंडादेश को भोगना है तब जुर्माना देने में व्यतिक्रम होने पर कारावास का अधिनिर्णय तब तक क्रियान्वित न किया जाएगा जब तक वह व्यक्ति अतिरिक्त दंडादेश या दंडादेशों को भुगत चुका हो।

धारा 429 CrPC

[ CrPC Sec. 429 in English ] –

“Saving ”–

  1. Nothing in section 426 or section 427 shall be held to excuse any person from any part of the punishment to which he is liable upon his former or subsequent conviction.
  2. When an award of imprisonment in default of payment of a fine is annexed to a substantive sentence of imprisonment and the person undergoing the sentence is after its execution to undergo a further substantive sentence or further substantive sentences of imprisonment effect shall not be given to the award of imprisonment in default of payment of the fine until the person has undergone the further sentence or sentences.

धारा 429 CrPC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here