धारा 4 भ्रष्टाचार निवारण | Section 4 Prevention of corruption act Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “विशेष न्यायाधीशों द्वारा विचारणीय मामले | भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 4 क्या है | Section 4 Prevention of corruption act in hindi | Section 4 of Prevention of corruption act | धारा 4 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम | Cases triable by special Judgesके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 4 |  Section 4 of Prevention of corruption act

[ Prevention of corruption act Sec. 4 in Hindi ] –

विशेष न्यायाधीशों द्वारा विचारणीय मामले–

(1) दंड प्रक्रिया संहिता, 1973 (1974 का 2) या तत्समय प्रवृत्त किसी अन्य विधि में किसी बात के होते हुए भी धारा 3 की उपधारा (1) में विनिर्दिष्ट अपराध विशेष न्यायाधीश द्वारा ही विचारणीय होंगे।

(2) धारा 3 की उपधारा (1) में विनिर्दिष्ट प्रत्येक अपराध उस क्षेत्र के विशेष न्यायाधीश द्वारा जिसमें वह अपराध किया गया है या जहां ऐसे क्षेत्र के लिए एक से अधिक विशेष न्यायाधीश हैं वहां उनमें से ऐसे न्यायाधीश द्वारा जो इस निमित्त केंद्रीय सरकार द्वारा विनिर्दिष्ट किया जाएगा उस मामले के लिए नियुक्त किए गए विशेष न्यायाधीशों द्वारा विचारणीय होगा।

(3) किसी मामले का विचारण करते समय विशेष न्यायाधीश धारा 3 में विनिर्दिष्ट किसी अपराध से भिन्न, किसी ऐसे अन्य अपराध का भी विचारण कर सकता है जिससे अभियुक्त दंड प्रक्रिया संहिता, 1973 (1974 का 2) के अधीन, उसी विचारण में आरोपित किया जा सकता है।

(4) दंड प्रक्रिया संहिता, 1973 (1974 का 2) में किसी बात के होते हुए भी विशेष न्यायाधीश, अपराध का विचारण यावत्शक्य, दिन प्रतिदिन के आधार पर करेगा।

धारा 4 Prevention of corruption act

[ Prevention of corruption act Sec. 4 in English ] –

Cases triable by special Judges ”–

(1) Notwithstanding anything contained in the Code of Criminal Procedure, 1973 (2 of 1974), or in any other law for the time being in force, the offences specified in sub-section (1) of section 3 shall be tried by special Judges only. 

(2) Every offence specified in sub-section (1) of section 3 shall be tried by the special Judge for the area within which it was committed, or, as the case may be, by the special Judge appointed for the case, or where there are more special Judges than one for such area, by such one of them as may be specified in this behalf by the Central Government. 

(3) When trying any case, a special Judge may also try any offence, other than an offence specified in section 3, with which the accused may, under the Code of Criminal Procedure, 1973 (2 of 1974), be charged at the same trial. 

(4) Notwithstanding anything contained in the Code of Criminal Procedure, 1973 (2 of 1974), a special Judge shall, as far as practicable, hold the trial of an offence on day-to-day basis. 

धारा 4 Prevention of corruption act

भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम  

Pdf download in hindi

Prevention of corruption act

Pdf download in English 

Pocso Act sections listDomestic violence act sections list
Updated: May 17, 2020 — 1:33 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.