Home LAW धारा 4 परिसीमा अधिनियम | Section 4 of limitation act in Hindi

धारा 4 परिसीमा अधिनियम | Section 4 of limitation act in Hindi

2249
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “विहित काल का अवसान जब न्यायालय बन्द हो | परिसीमा अधिनियम 1963 की धारा 4 क्या है | Section 4 limitation act in Hindi | Section 4 of limitation act | धारा 4 परिसीमा अधिनियम 1963 | Expiry of prescribed period when court is closedके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

परिसीमा अधिनियम 1963 की धारा 4 |  Section 4 of limitation act

[ limitation act Sec. 4 in Hindi ] –

विहित काल का अवसान जब न्यायालय बन्द हो-

जहां कि किसी वाद, अपील या आवेदन के लिए विहित काल का अवसान किसी ऐसे दिन होता हो जिस दिन न्यायालय बंद हो, वहां उस दिन वाद संस्थित किया जा सकेगा, अपील की जा सकेगी या आवेदन किया जा सकेगा जिस दिन न्यायालय फिर खुले।

स्पष्टीकरण- न्यायालय इस धारा के अर्थ के भीतर उस दिन बन्द समझा जाएगा जिस दिन वह अपने काम के नियमित काल के किसी भी भाग में बन्द रहे।

धारा 4 limitation act

[ limitation act Sec. 4  in English ] –

“  Expiry of prescribed period when court is closed ”–

Where the prescribed period for any suit, appeal or application expires on a day when the court is closed, the suit, appeal or application may be instituted, preferred or made on the day when the court reopens.
Explanation.— A court shall be deemed to be closed on any day within the meaning of this section if during any part of its normal working hours it remains closed on that day.

धारा 4 limitation act

Limitation act Pdf download in hindi

Section 1 of limitation act Section 1 of limitation act

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here