Home LAW धारा 379 CrPC | Section 379 CrPC in Hindi | CrPC Section...

धारा 379 CrPC | Section 379 CrPC in Hindi | CrPC Section 379

3362
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “कुछ मामलों में उच्च न्यायालय द्वारा दोषसिद्ध किए जाने के विरुद्ध अपील | दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 379 क्या है | section 379 CrPC in Hindi | Section 379 in The Code Of Criminal Procedure | CrPC Section 379 | Appeal against conviction by High Court in certain cases के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 379 |  Section 379 in The Code Of Criminal Procedure

[ CrPC Sec. 379 in Hindi ] –

कुछ मामलों में उच्च न्यायालय द्वारा दोषसिद्ध किए जाने के विरुद्ध अपील-

यदि उच्च न्यायालय ने अभियुक्त व्यक्ति को दोषमुक्ति के आदेश को अपील में उलट दिया है और उसे दोषसिद्ध किया है तथा उसे मृत्यु या आजीवन कारावास या दस वर्ष अथवा अधिक की अवधि के कारावास का दंड दिया है तो वह उच्चतम न्यायालय में अपील कर सकता है।

धारा 379 CrPC

[ CrPC Sec. 379 in English ] –

“Appeal against conviction by High Court in certain cases ”–

 Where the High Court has, on appeal, reversed an order of acquittal of an accused person and convicted him and sentenced him to death or to imprisonment for life or to imprisonment for a term of ten years or more, he may appeal to the Supreme Court.

धारा 379 CrPC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here