Home LAW विधिपूर्ण संरक्षकता में से व्यह्परण | Section 361 Ipc

विधिपूर्ण संरक्षकता में से व्यह्परण | Section 361 Ipc

39
0
Kidnapping from lawful guardianship | Section 361

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “ विधिपूर्ण संरक्षकता में से व्यह्परण |  Kidnapping from lawful guardianship | Section 361 Ipc ” के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

विधिपूर्ण संरक्षकता में से व्यह्परण |  Kidnapping from lawful guardianship | Section 361 Ipc

भारतीय दंड संहिता की धारा 361 के अनुसार- “विधिपूर्ण संरक्षकता में से व्यह्परण ”

विधिपूर्ण संरक्षकता में से व्यपहरण-जो कोई किसी अप्राप्तवय को, यदि वह नर हो, तो सोलह वर्ष से कम आयु वाले को, या यदि वह नारी हो तो, अट्ठारह वर्ष से कम आयु वाली को या किसी विकृतचित्त व्यक्ति को, ऐसे अप्राप्तवय या विकृतचित्त व्यक्ति के विधिपूर्ण संरक्षकता में से ऐसे संरक्षक की सम्मति के बिना ले जाता है या बहका ले जाता है, वह ऐसे अप्राप्तवय या ऐसे व्यक्ति का विधिपूर्ण संरक्षकता में से व्यपहरण करता है, यह कहा जाता है।

स्पष्टीकरण-इस धारा में “विधिपूर्ण संरक्षक” शब्दों के अन्तर्गत ऐसा व्यक्ति आता है जिस पर ऐसे अप्राप्तवय या अन्य व्यक्ति की देख-रेख या अभिरक्षा का भार विधिपूर्वक न्यस्त किया गया है।

अपवाद- इस धारा का विस्तार किसी ऐसे व्यक्ति के कार्य पर नहीं है, जिसे सद्भावपूर्वक यह विश्वास है कि वह किसी अधर्मज शिशु का पिता है, या जिसे सद्भावपूर्वक यह विश्वास है कि वह ऐसे शिशु की विधिपूर्ण अभिरक्षा का हकदार है, जब तक कि ऐसा कार्य दुराचारिक या विधिविरुद्ध प्रयोजन के लिए न किया जाए।

टिप्पणी

ले जाने’ या ‘बहका ले जाने’ में और एक व्यक्ति के साथ अप्राप्तवय को चलने की अनुमति देने के बाच अन्तर है। जहां अप्राप्तवय अपने पिता का संरक्षण यह जानते हुए और जानने की सक्षमता रखते हुए ऐसा करने का संपूर्ण अभिप्राय क्या है, छोड़ती है, और स्वेच्छा से अभियुक्त के पास चली जाती है, तो अभियक्त उसे उसके विधिपूर्ण संरक्षक की संरक्षता से ले गया या बहका ले गया ऐसा नहीं समझा जायेगा। वरदराजन बनाम राज्य, AIR 1965 SC942.

Kidnapping from lawful guardianship | Section 361 Ipc

Kidnapping from lawful guardianship.—Whoever takes or entices any minor under 1[sixteen] years of age if a male, or under 2[eighteen] years of age if a female, or any person of unsound mind, out of the keeping of the lawful guardian of such minor or person of unsound mind, without the consent of such guardian, is said to kidnap such minor or person from lawful guardianship. Explanation.—The words “lawful guardian” in this section include any person lawfully entrusted with the care or custody of such minor or other person.

(Exception) —This section does not extend to the act of any person who in good faith believes himself to be the father of an ille­gitimate child, or who in good faith believes himself to be entitled to lawful custody of such child, unless such act is committed for an immoral or unlawful purpose.

यदि आपका ” विधिपूर्ण संरक्षकता में से व्यह्परण |  Kidnapping from lawful guardianship | Section 361 Ipc  से सम्बंधित कोई प्रश्न है तो आप कमेट के माध्यम से हम से पूछ सकते हैं ।

 Madhyprdesh ki nadiya | मध्यप्रदेश की नदियाBUY  Madhyprdesh ki nadiya | मध्यप्रदेश की नदियाBUY

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here