Home LAW धारा 361 CrPC | Section 361 CrPC in Hindi | CrPC Section...

धारा 361 CrPC | Section 361 CrPC in Hindi | CrPC Section 361

1186
0
section 361 CrPC in Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “कुछ मामलों में विशेष कारणों का अभिलिखित किया जाना | दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 361 क्या है | section 361 CrPC in Hindi | Section 361 in The Code Of Criminal Procedure | CrPC Section 361 | Special reasons to be recorded in certain casesके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 361 |  Section 361 in The Code Of Criminal Procedure

[ CrPC Sec. 361 in Hindi ] –

कुछ मामलों में विशेष कारणों का अभिलिखित किया जाना—

जहां किसी मामले में न्यायालय,–

(क) किसी अभियुक्त व्यक्ति के संबंध में कार्रवाई धारा 360 के अधीन या अपराधी परिवीक्षा अधिनियम, 1958 (1958 का 20) के उपबंधों के अधीन कर सकता था ; या

(ख) किसी किशोर अपराधी के संबंध में कार्रवाई, बालक अधिनियम, 1960 (1960 का 60) के अधीन या किशोर अपराधियों के उपचार, प्रशिक्षण या सुधार से संबंधित तत्समय प्रवृत्त किसी अन्य विधि के अधीन कर सकता था,

किन्तु उसने ऐसा नहीं किया है वहां वह ऐसा न करने के विशेष कारण अपने निर्णय में अभिलिखित करेगा।

धारा 361 CrPC

[ CrPC Sec. 361 in English ] –

“Special reasons to be recorded in certain cases ”–

Where in any case the Court could have dealt with,-

(a) an accused person under section 360 or under the provisions of the Probation of Offenders Act, 1958 (20 of 1958 ), or
(b) a youthful offender under the Children Act, 1960 (60 of 1960 ), or any other law for the time being in force for the treatment, training or rehabilitation of youthful offenders,
but has not done so, it shall record in its judgment the special reasons for not having done so.

धारा 361 CrPC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here