धारा 34 घरेलू हिंसा | Section 34 Domestic violence act in Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “संरक्षण अधिकारी द्वारा किए अपराध का संज्ञान | घरेलू हिंसा अधिनियम की धारा 34 क्या है | Section 34 Domestic violence act in Hindi | Section 34 of Domestic violence act | धारा 34 घरेलू हिंसा अधिनियम | Cognizance of offence committed by Protection Officer के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

घरेलू हिंसा अधिनियम की धारा 34 |  Section 34 of Domestic violence act

[ Domestic violence act Sec. 34 in Hindi ] –

संरक्षण अधिकारी द्वारा किए अपराध का संज्ञान.-

संरक्षण अधिकारी के विरुद्ध कोई अभियोजन या अन्य विधिक कार्यवाही तक तक नहीं होगी जब तक राज्य सरकार या इस निमित्त उसके द्वारा प्राधिकृत किसी अधिकारी की पूर्व मंजूरी से कोई परिवाद फाइल नहीं किया जाता है।

धारा 34 Domestic violence act

[ Domestic violence act Sec. 34 in English ] –

Cognizance of offence committed by Protection Officer ”–

No prosecution or other legal proceeding shall lie against the Protection Officer unless a complaint is filed with the previous sanction of the State Government or an officer authorised by it in this behalf. 

धारा 34 Domestic violence act

घरेलू हिंसा अधिनियम 

Pdf download in hindi

Domestic violence act 

Pdf download in English 

Dowry prohibition act 1961 PDFDowry prohibition act 1961 PDF
Updated: May 14, 2020 — 10:50 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.