Home LAW धारा 302 CrPC | Section 302 CrPC in Hindi | CrPC Section...

धारा 302 CrPC | Section 302 CrPC in Hindi | CrPC Section 302

2067
0
section 302 CrPC in Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “ अभियोजन का संचालन करने की अनुज्ञा | दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 302 क्या है | section 302 CrPC in Hindi | Section 302 in The Code Of Criminal Procedure | CrPC Section 302 | Permission to conduct prosecutionके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 302 |  Section 302 in The Code Of Criminal Procedure

[ CrPC Sec. 302 in Hindi ] –

अभियोजन का संचालन करने की अनुज्ञा–

(1) किसी मामले की जांच या विचारण करने वाला कोई मजिस्ट्रेट निरीक्षक की पंक्ति से नीचे के पुलिस अधिकारी से भिन्न किसी भी व्यक्ति द्वारा अभियोजन के संचालित किए जाने की अनुज्ञा दे सकता है किन्तु महाधिववक्ता या सरकारी अधिववक्ता या लोक अभियोजक या सहायक लोक अभियोजक से भिन्न कोई व्यक्ति ऐसी अनुज्ञा के बिना ऐसा करने का हकदार न होगा:

परन्तु यदि पुलिस के किसी अधिकारी ने उस अपराध के अन्वेषण में, जिसके बारे में अभियुक्त का अभियोजन किया जा रहा है, भाग लिया है तो अभियोजन का संचालन करने की उसे अनुज्ञा न दी जाएगी।

(2) अभियोजन का संचालन करने वाला कोई व्यक्ति स्वयं या प्लीडर द्वारा ऐसा कर सकता है।

धारा 302 CrPC

[ CrPC Sec. 302 in English ] –

“ Permission to conduct prosecution”–

(1) Any Magistrate inquiring into or trying a case may permit the prosecution to be conducted by any person other than a police officer below the rank of Inspector; but no person, other than the Advocate General or Government Advocate or a Public Prosecutor or Assistant Public Prosecutor, shall be entitled to do so without such permission:
Provided that no police officer shall be permitted to conduct the prosecution if he has taken part in the investigation into the offence with respect to which the accused is being prosecuted.
(2) Any person conducting the prosecution may do so personally or by a pleader.

धारा 302 CrPC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here