Home LAW धारा 301 CrPC | Section 301 CrPC in Hindi | CrPC Section...

धारा 301 CrPC | Section 301 CrPC in Hindi | CrPC Section 301

1887
0
section 301 CrPC in Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “ लोक अभियोजकों द्वारा हाजिरी | दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 301 क्या है | section 301 CrPC in Hindi | Section 301 in The Code Of Criminal Procedure | CrPC Section 301 | Appearance by Public Prosecutorsके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 301 |  Section 301 in The Code Of Criminal Procedure

[ CrPC Sec. 301 in Hindi ] –

लोक अभियोजकों द्वारा हाजिरी-

(1) किसी मामले का भारसाधक लोक अभियोजक या सहायक लोक अभियोजक किसी न्यायालय में, जिसमें वह मामला जांच, विवरण या अपील के अधीन है, किसी लिखित प्राधिकार के बिना हाजिर हो सकता है और अभिवचन कर सकता है।

(2) किसी ऐसे मामले में यदि कोई प्राइवेट व्यक्ति किसी न्यायालय में किसी व्यक्ति को अभियोजित करने के लिए किसी प्लीडर को अनुदेश देता है तो मामले का भारसाधक लोक अभियोजक या सहायक लोक अभियोजक अभियोजन का संचालन करेगा और ऐसे अनुदिष्ट प्लीडर उसमें लोक अभियोजक या सहायक लोक अभियोजक के निदेश के अधीन कार्य करेगा और न्यायालय की अनुज्ञा से उस मामले में साक्ष्य की समाप्ति पर लिखित रूप में तर्क पेश कर सकेगा।

धारा 301 CrPC

[ CrPC Sec. 301 in English ] –

“ Person once convicted or acquitted not to be tried for same offence”–

(1) The Public Prosecutor or Assistant Public Prosecutor in charge of a case may appear and plead without any written authority before any Court in which that case is under inquiry, trial or appeal.
(2) If in any such case, any private person instructs a pleader to prosecute any person in any Court, the Public Prosecutor or Assistant Public Prosecutor in charge of the case shall conduct the prosecution, and the pleader so instructed shall act therein under the directions of the Public Prosecutor or Assistant Public Prosecutor, and may, with the permission of the Court, submit written arguments after the evidence is closed in the case.

धारा 301 CrPC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here