Home LAW धारा 282 CrPC | Section 282 CrPC in Hindi | CrPC Section...

धारा 282 CrPC | Section 282 CrPC in Hindi | CrPC Section 282

1113
0
section 282 CrPC in Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको दुभाषिया ठीक-ठीक भाषान्तर करने के लिए आबद्ध होगा  | दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 282 क्या है | section 282 CrPC in Hindi | Section 282 in The Code Of Criminal Procedure | CrPC Section 282 | Interpreter to be bound to interpret truthfullyके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 282 |  Section 282 in The Code Of Criminal Procedure

[ CrPC Sec. 282 in Hindi ] –

दुभाषिया ठीक-ठीक भाषान्तर करने के लिए आबद्ध होगा

जब किसी साक्ष्य या कथन के भाषान्तर के लिए दुभाषिए की सेवा की किसी दंड न्यायालय द्वारा अपेक्षा की जाती है तब वह दुभाषिया ऐसे साक्ष्य या कथन का ठीक भाषान्तर करने के लिए आबद्ध होगा।

धारा 282 CrPC

[ CrPC Sec. 282 in English ] –

“Interpreter to be bound to interpret truthfully ”–

When the services of an interpreter are, required by any Criminal Court for the interpretation of any evidence or statement, he shall be bound to state the true interpretation of such evidence or statement.

धारा 282 CrPC

  •  Mp rashtriy udhan part 1

    BUY

     

    BUY

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here