धारा 21 सम्पत्ति अन्तरण | Section 21 of Transfer of property Act Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “समाश्रित हित | सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम की धारा 21 क्या है | Section 21 Transfer of property Act in hindi | Section 21 of Transfer of property Act | धारा 21 सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम | Contingent interestके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम की धारा 21 |  Section 21 of Transfer of property Act | Section 21 Transfer of property Act in Hindi

[ Transfer of property Act Section 21 in Hindi ] –

समाश्रित हित-

जहां कि संपत्ति-अंतरण से उस संपत्ति में किसी व्यक्ति के पक्ष में हित विनिर्दिष्ट अनिश्चित घटना के घटित न होने पर ही अथवा किसी विनिर्दिष्ट अनिश्चित घटना के घटित न होने पर ही प्रभावी होने के लिए सृष्ट किया गया हो, वहां ऐसा व्यक्ति तद्द्वारा उस संपत्ति में समाश्रित हित अर्जित करता है । ऐसा हित पूर्व कथित दशा में उस घटना के घटित होने पर और पश्चात्-कथित दशा में उस घटना का घटित होना असम्भव हो जाने पर निहित हित हो जाता है।

अपवाद-जहां कि संपत्ति-अंतरण के अधीन कोई व्यक्ति उस संपत्ति में किसी हित का हकदार कोई विशिष्ट आयु प्राप्त करने पर हो जाता है, और अन्तरक उसको वह आय भी आत्यन्तिकतः देता है जो उसके वह आयु प्राप्त करने से पहले ऐसे हित से उद्भूत हो यह निदेश देता है कि वह आय या उसमें से उतनी, जितनी आवश्यक हो, उसके फायदे के लिए उपयोजित की जाए, वहाँ ऐसा हित समाश्रित हित नहीं है।

धारा 21 Transfer of property Act

[ Transfer of property Act Sec. 21 in English ] –

Contingent interest”–

Where, on a transfer of property, an interest therein is created in favour of a person to take effect only on the happening of a specified uncertain event, or if a specified uncertain event shall not happen, such person thereby acquires a contingent interest in the property. Such interest becomes a vested interest, in the former case, on the happening of the event, in the latter, when the happening of the event becomes impossible. 

Exception.—Where, under a transfer of property, a person becomes entitled to an interest therein upon attaining a particular age, and the transferor also gives to him absolutely the income to arise from such interest before he reaches that age, or directs the income or so much thereof as may be necessary to be applied for his benefit, such interest is not contingent.

धारा 21 Transfer of property Act 

सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम  

Pdf download in hindi

Transfer of property Act

Pdf download in English 

Pocso Act sections listDomestic violence act sections list
Updated: May 23, 2020 — 10:25 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.