Home LAW धारा 201 CrPC | Section 201 CrPC in Hindi | CrPC Section...

धारा 201 CrPC | Section 201 CrPC in Hindi | CrPC Section 201

2918
0

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “ऐसे मजिस्ट्रेट द्वारा प्रक्रिया जो मामले का संज्ञान करने के लिए सक्षम नहीं है | दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 201 क्या है | section 201 CrPC in Hindi | Section 201 in The Code Of Criminal Procedure | CrPC Section 201 | Procedure by Magistrate not competent to take cognizance of the case के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 201 |  Section 201 in The Code Of Criminal Procedure

[ CrPC Sec. 201 in Hindi ] –

ऐसे मजिस्ट्रेट द्वारा प्रक्रिया जो मामले का संज्ञान करने के लिए सक्षम नहीं है-

यदि परिवाद ऐसे मजिस्ट्रेट को किया जाता है जो उस अपराध का संज्ञान करने के लिए सक्षम नहीं है, तो

(क) यदि परिवाद लिखित है तो वह उसको समुचित न्यायालय में पेश करने के लिए, उस भाव के पृष्ठांकन सहित, लौटा देगा:

(ख) यदि परिवाद लिखित नहीं है तो वह परिवादी को उचित न्यायालय में जाने का निदेश देगा।

धारा 201 CrPC

[ CrPC Sec. 201 in English ] –

“ Procedure by Magistrate not competent to take cognizance of the case ”–

 If the complaint is made to a Magistrate who is not competent to take cognizance of the offence, he shall,-

(a) if the complaint is in writing, return it for presentation to the proper Court with an endorsement to that effect;
(b) if the complaint is not in writing, direct the complainant to the proper Court.

धारा 201 CrPC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here