धारा 20 सम्पत्ति अन्तरण | Section 20 of Transfer of property Act Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “अजात व्यक्ति अपने फायदे के लिए किए गए अन्तरण पर कब निहित हित अर्जित करता है | सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम की धारा 20 क्या है | Section 20 Transfer of property Act in hindi | Section 20 of Transfer of property Act | धारा 20 सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम | When unborn person acquires vested interest on transfer for his benefitके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम की धारा 20 |  Section 20 of Transfer of property Act | Section 20 Transfer of property Act in Hindi

[ Transfer of property Act Section 20 in Hindi ] –

अजात व्यक्ति अपने फायदे के लिए किए गए अन्तरण पर कब निहित हित अर्जित करता है-

 जहां कि संपत्ति-अंतरण से उस संपत्ति में कोई हित ऐसे व्यक्ति के फायदे के लिए सृष्ट किया जाता है जो उस समय अजात है वहां, जब तक कि अन्तरण के निबन्धनों से कोई तत्प्रतिकूल आशय प्रतीत न होता हो, वह अपना जन्म होने पर निहित हित अर्जित कर लेता है, यद्यपि उसे यह हक न हो कि वह अपने जन्म से ही उसका उपभोग करने लगे।

धारा 20 Transfer of property Act

[ Transfer of property Act Sec. 20 in English ] –

When unborn person acquires vested interest on transfer for his benefit”–

Where, on a transfer of property, an interest therein is created for the benefit of a person not then living, he acquires upon his birth, unless a contrary intention appear from the terms of the transfer, a vested interest, although he may not be entitled to the enjoyment thereof immediately on his birth.

धारा 20 Transfer of property Act 

सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम  

Pdf download in hindi

Transfer of property Act

Pdf download in English 

Pocso Act sections listDomestic violence act sections list
Updated: May 23, 2020 — 8:10 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.