धारा 2 हिन्दू विवाह अधिनियम | Section 2 of Hindu Marriage Act Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “अधिनियम का लागू होना | हिन्दू विवाह अधिनियम की धारा 2 क्या है | Section 2 Hindu Marriage Act in Hindi | Section 2 of Hindu Marriage Act | धारा 2 हिन्दू विवाह अधिनियम | Application of Act के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

हिन्दू विवाह अधिनियम की धारा 2 |  Section 2 of Hindu Marriage Act | Section 2 Hindu Marriage Act in Hindi

[ Hindu Marriage Act Section 2 in Hindi ] –

“अधिनियम का लागू होना”

(1) यह अधिनियम –

(क) वीरशैव, लिंगायत, ब्राह्म, प्रार्थना या आर्य-समाज के अनुयायियों के सहित ऐसे किसी व्यक्ति को लागू है जो कि हिन्दू धर्म के रूपों के विकासों में से किसी के नाते धर्म से हिन्दू हैं;

(ख) ऐसे किसी व्यक्ति को लागू है जो कि धर्म से बौद्ध, जैन या सिक्ख हैं; और

(ग) जब तक कि उन राज्य-क्षेत्रों में जिन पर कि इस अधिनियम का विस्तार है, अधिवासित ऐसे किसी अन्य व्यक्ति के बारे में जो कि धर्म से मुसलमान, ईसाई, पारसी या यहदी नहीं है, यह सिद्ध नहीं कर दिया जाता कि यदि यह अधिनियम पारित न किया गया होता तो वह ऐसी किसी बात के बारे में, जिसके लिये इसमें व्यवस्था की गई है, हिन्दू विधि द्वारा या उस विधि की भागरूप किसी रूढ़िया प्रथा द्वारा शासित नहीं होता, ऐसे अन्य व्यक्ति को भी लागू है।

स्पष्टीकरण – निम्न व्यक्ति अर्थात् :

(क) ऐसा कोई बालक चाहे वह औरस हो या जारज जिसके दोनों जनकों में से एक धर्म से हिन्द्र, बौद्ध, जैन या सिक्ख हों;

(ख) ऐसा बालक चाहे वह औरस हो या जारज जिसके दोनों जनकों में से एक धर्म से हिन्दू, बौद्ध, जैन या सिक्ख है और जिसका कि लालन-पालन उस आदिम जाति, समुदाय, समूह या परिवार के सदस्य के रूप में किया गया है जिसका कि ऐसा जनक हे या था; और

(ग) ऐसा कोई व्यक्ति जिसने हिन्दू, बौद्ध, जैन या सिक्ख धर्म ग्रहण किया है, पुनर्ग्रहण किया है; यथास्थिति धर्म से हिन्दू, बौद्ध, जैन या सिक्ख है।

(2) उपधारा (1) में अन्तर्विष्ट किसी बात के होते हुए भी इस अधिनियम में अन्तर्विष्ट कोई बात संविधान के अनुच्छेद 366 के खण्ड (25) के अर्थों के अन्दर वाली किसी अनुसूचित आदिम जाति के सदस्यों को तब तक लाग न होगी जब तक कि केन्द्रीय सरकार राजकीय गजट में अधिसूचना द्वारा अन्यथा निर्दिष्ट न करे।

(3) इस अधिनियम के किसी प्रभाव से हिन्दू पद का ऐसे अर्थ लगाया जायगा मानो कि इसके अन्तर्गत ऐसा व्यक्ति है जो कि यद्यपि धर्म से हिन्दू नहीं है तथापि ऐसा व्यक्ति है जिसे कि यह अधिनियम इस धारा में अन्तर्विष्ट उपबन्धों के बल से लागू होता है।

धारा 2 Hindu Marriage Act

[ Hindu Marriage Act Sec. 2 in English ] –

Application of Act”–

(1) This Act applies,- 

(a) to any person who is a Hindu by religion in any of of its forms or developments, including a Virashaiva, a Lingayat or a follower of the Brahmo, Prarthana or Arya Samaj; 

(b) to any person who is a Buddhist, Jaina or Sikh by religion, and 

(c) to any other person domiciled in the territories to which this Act extends who is not a Muslim, Christian, Parsi or Jew by religion, unless it is proved that any such person would not have been governed by the Hindu law or by any custom or usage as part of that law in respect of any of the matters dealt with herein if this Act had not been passed. 

Explanation.- The following persons are Hindus, Buddhists, Jainas or Sikhs by religion, as the case may be,- 

(a) any child, legitimate or illegitimate, both of whose parents are Hindus, Buddhists, Jainas or Sikhs by religion; 

(b) any child, legitimate or illegitimate, one of whose parents is a Hindu, Buddhist Jaina or Sikh by religion and who is brought up as a member of tribe, community, group or family to which such parents belongs or belonged; and 

(c) any person who is a convert or re-convert to the Hindus, Buddhist, Jaina or Sikh religion. 

(2) Notwithstanding anything contained in sub-section (1),nothing contained in this Act shall apply to the members of any Scheduled Tribe within the meaning of clause (25) of Article 366 of the Constitution unless the Central Government, by notification in the Official Gazette, otherwise directs. 

(3) The expression “Hindus” in any portion of this Act shall be construed as if it included a person who, though not a Hindu by religion is, nevertheless, a person 

whom this Act applies by virtue of the provisions contained in this section. 

धारा 2 Hindu Marriage Act


हिन्दू विवाह अधिनियम  

PDF download in Hindi

Hindu Marriage Act

Pdf download in English 

Section 2 of Hindu Marriage Act Ipc sections
Section 2 of Hindu Marriage Act Section 1 of Child Labour Act
Section 2 of Hindu Marriage Act Section 1 of Child Labour Act
Section 2 of Hindu Marriage Act Section 1 of Child Labour Act
Section 2 of Hindu Marriage Act Section 1 of Child Labour Act
Section 2 of Hindu Marriage Act Section 1 of Child Labour Act

 

Updated: June 7, 2020 — 3:45 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.