धारा 166 संविदा अधिनियम | Section 166 Indian Contract act in Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “बिना हक वाले उपनिधाता को वापस परिदान करने पर उपनिहिती उत्तरदायी न होगा | भारतीय संविदा अधिनियम की धारा 166 क्या है | Section 166 Indian Contract act in Hindi | Section 166 of Indian Contract act | धारा 166 भारतीय संविदा अधिनियम | Bailee not responsible on re-delivery to bailor without titleके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय संविदा अधिनियम की धारा 166 |  Section 166 of Indian Contract act

[ Indian Contract act Sec. 166 in Hindi ] –

बिना हक वाले उपनिधाता को वापस परिदान करने पर उपनिहिती उत्तरदायी न होगा—

यदि उपनिधाता का माल पर कोई हक न हो और उपनिहिती उसके उपनिधाता को या उसके निदेशों के अनुसार सद्भावपूर्वक प्रतिपरिदान कर दे तो उपनिहिती ऐसे परिदान के बारे में उसके स्वामी के प्रति उत्तरदायी नहीं है।

धारा 166 Indian Contract act

[ Indian Contract act Sec. 166  in English ] –

“Bailee not responsible on re-delivery to bailor without title”–

If the bailor has no title to the goods, and the bailee, in good faith, delivers them back to, or according to the directions of, the bailor, the bailee is not responsible to the owner in respect of such delivery.

धारा 166 Indian Contract act

भारतीय संविदा अधिनियम 

Pdf download in hindi

Indian contract act 

Pdf download in English 

Section 1 of limitation actSection 1 of limitation act
Updated: May 10, 2020 — 4:10 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.