धारा 137 सम्पत्ति अन्तरण | Section 137 of Transfer of property Act

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “परक्राम्य लिखतों की व्यावृत्ति | सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम की धारा 137 क्या है | Section 137 Transfer of property Act in hindi | Section 137 of Transfer of property Act | धारा 137 सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम | Saving of negotiable instruments, etc के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम की धारा 137 |  Section 137 of Transfer of property Act | Section 137 Transfer of property Act in Hindi

[ Transfer of property Act Section 137 in Hindi ] –

परक्राम्य लिखतों की व्यावृत्ति-

इस अध्याय की पूर्वगामी धाराओं की कोई भी बात, स्टाकों, अंशों या डिबेंचरों को अथवा उन लिखतों को, जो विधि या रूढ़ि द्वारा तत्समय परक्राम्य हैं, अथवा माल पर हक की वाणिज्यिक दस्तावेज को, लागू नहीं है।

स्पष्टीकरण-“माल पर हक की वाणिज्यिक दस्तावेज पद के अन्तर्गत बहनपत्र, डाक वारण्ट, भाण्डागारिक प्रमाणपत्र, रेल रसीद, माल के परिदान के लिए वारण्ट या आदेश, और ऐसी अन्य कोई भी दस्तावेज आती है जिसका व्यापार के मामूली अनुक्रम में उपयोग माल पर कब्जे या नियंत्रण के सबूत के रूप में किया जाता है, या जो उस दस्तावेज पर कब्जा रखने वाले व्यक्ति को वह माल, जिसके बारे में वह दस्तावेज है अन्तरित करने या प्राप्त करने के लिए पृष्ठांकन द्वारा या परिदान द्वारा प्राधिकृत करती है या प्राधिकृत करने वाली तात्पर्यित है।

धारा 137 Transfer of property Act

[ Transfer of property Act Sec. 137 in English ] –

Saving of negotiable instruments, etc”–

Nothing in the foregoing sections of this Chapter applies to stocks, shares or debentures, or to instruments which are for the time being, by law or custom, negotiable, or to any mercantile document of title to goods.

Explanation.—The expression “mercantile document of title to goods” includes a bill of lading, dock-warrant, warehouse-keeper’s certificate, railway receipt, warrant or order for the delivery of goods, and any other document used in the ordinary course of business as proof of the possession or control of goods, or authorising or purporting to authorise, either by endorsement or by delivery, the possessor of the document to transfer or receive goods thereby represented.]

धारा 137 Transfer of property Act 

सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम  

Pdf download in hindi

Transfer of property Act

Pdf download in English 

Pocso Act sections listDomestic violence act sections list
Updated: May 27, 2020 — 8:35 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.