Home LAW धारा 132 सम्पत्ति अन्तरण | Section 132 of Transfer of property Act

धारा 132 सम्पत्ति अन्तरण | Section 132 of Transfer of property Act

1019
0
Section 132 of Transfer of property Act

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “अनुयोज्य दावे के अन्तरिती का दायित्व | सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम की धारा 132 क्या है | Section 132 Transfer of property Act in hindi | Section 132 of Transfer of property Act | धारा 132 सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम | Liability of transferee of actionable claim के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम की धारा 132 |  Section 132 of Transfer of property Act | Section 132 Transfer of property Act in Hindi

[ Transfer of property Act Section 132 in Hindi ] –

अनुयोज्य दावे के अन्तरिती का दायित्व-

अनुयोज्य दावे का अन्तरिती ऐसे दावे को उन सब दायित्वों और साम्याओं के अध्यधीन लेगा जिनके अध्यधीन अंतरक अन्तरण की तारीख को उस दावे के बारे में था।

दृष्टांत

(i) ग को क वह ऋण अन्तरित करता है जो ख द्वारा उसे शोध्य है। क उस समय ख का ऋणी है। ख पर ग उस ऋण के लिए वाद लाता है जो क को ख द्वारा शोध्य है। ऐसे वाद में ख वह् ऋण मुजरा कराने का हकदार है जो उसके द्वारा शोध्य है, यद्यपि ग ऐसे अन्तरण की तारीख पर उसकी जानकारी नहीं रखता था।

(ii) क ने ख के पक्ष में ऐसी परिस्थितियों में बन्धपत्र का निष्पादन किया जिनमें उसे इस बात का हक था कि वह बन्धपत्र को परिदत्त और रद्द करवा ले । ख बन्धपत्र को ग को, जिसे ऐसी परिस्थितियों की सूचना नहीं है, मूल्यार्थ समनुदिष्ट कर देता है। ग बन्धपत्र को क के विरुद्ध प्रवृत्त नहीं करा सकता।

धारा 132 Transfer of property Act

[ Transfer of property Act Sec. 132 in English ] –

Liability of transferee of actionable claim”–

The transferee of an actionable claim shall take it subject to all the liabilities and equities to which the transferor was subject in respect thereof at the date of the transfer. 

Illustrations 

(i) A transfers to C a debt due to him by B, A being then indebted to B. C sues B for the debt due by B to A. such suit B is entitled to set off the debt due by A to him; although C was unaware of it at the date of such transfer. 

(ii) A executed a bond in favour of B under circumstances entitling the former to have it delivered up and cancelled. B assigns the bond to C for value and without notice of such circumstances. C cannot enforce the bond against A. 

धारा 132 Transfer of property Act 

सम्पत्ति अन्तरण अधिनियम  

Pdf download in hindi

Transfer of property Act

Pdf download in English 

Pocso Act sections list Domestic violence act sections list

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here