धारा 104 साक्ष्य अधिनियम | Section 104 of Indian Evidence Act Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको “ साक्ष्य को ग्राह्य बनाने के लिए जो तथ्य साबित किया जाना हो. उसे साबित करने का भार | साक्ष्य अधिनियम की धारा 104 क्या है | Section 104 Indian Evidence Act in Hindi | Section 104 of Indian Evidence Act | धारा 104 साक्ष्य अधिनियम | Burden of proving fact to be proved to make evidence admissible के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

साक्ष्य अधिनियम की धारा 104 |  Section 104 of Indian Evidence Act | Section 104 Indian Evidence Act in Hindi

[ Indian Evidence Act Section 104 in Hindi ] –

“साक्ष्य को ग्राह्य बनाने के लिए जो तथ्य साबित किया जाना हो. उसे साबित करने का भार “

ऐसे तथ्य को साबित करने का भार जिसका साबित किया जाना किसी व्यक्ति को किसी अन्य तथ्य का साक्ष्य देने को समर्थ करने के लिए आवश्यक है, उस व्यक्ति पर है जो ऐसा साक्ष्य देना चाहता है।

दृष्टांत

(क) ख द्वारा किए गए मृत्यु-कालिक कथन को क साबित करना चाहता है । क को ख की मृत्यु साबित करनी होगी।

(ख) क किसी खोई हुई दस्तावेज की अन्तर्वस्तु को द्वितीयिक साक्ष्य द्वारा साबित करना चाहता है। क को यह साबित करना होगा कि दस्तावेज खो गई है।

धारा 104 Indian Evidence Act

[ Indian Evidence Act Sec. 104 in English ] –

“ Burden of proving fact to be proved to make evidence admissible”–

 The burden of proving any fact necessary to be proved in order to enable any person to give evidence of any other fact is on the person who wishes to give such evidence. 

Illustrations 

(a) A wishes to prove a dying declaration by B. A must prove B’s death. 

(b) A wishes to prove, by secondary evidence, the contents of a lost document. 

A must prove that the document has been lost. 

धारा 104 Indian Evidence Act 

साक्ष्य अधिनियम  

Pdf download in hindi

Indian Evidence Act

Pdf download in English 

Ipc sections Ipc sections
Section 67A of Indian Evidence Act Ipc sections
Section 67A of Indian Evidence Act Ipc sections
Section 67A of Indian Evidence Act Ipc sections
Section 67A of Indian Evidence Act Ipc sections
Section 67A of Indian Evidence Act

 

Updated: June 2, 2020 — 10:31 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.