Home ALL POST कंपनी अधिनियम धारा 10 | Section 10 of Companies Act in Hindi

कंपनी अधिनियम धारा 10 | Section 10 of Companies Act in Hindi

102
0
Section 10 of Companies Act in Hindi

आजके इस आर्टिकल में मैआपको ” ज्ञापन और अनुच्छेद का प्रभाव | कंपनी अधिनियम धारा 10  | Section 10 of Companies Act in Hindi | कंपनी अधिनियम की धारा 10 | के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

Section 10 of Companies Act in Hindi

[ Companies Act Sec. 10 in Hindi ] –

ज्ञापन और अनुच्छेद का प्रभाव

 (1) इस अधिनियम के उपबंधों के अधीन रहते हुए, ज्ञापन और अनुच्छेद, जब रजिस्ट्रीकृत हों, कंपनी और उसके सदस्यों को उस सीमा तक बाध्यकर बनाएंगे मानो कंपनी द्वारा और प्रत्येक सदस्य द्वारा उस पर अपने-अपने हस्ताक्षर किए गए हों तथा उनमें कंपनी तथा उसके पक्ष में ज्ञापन और अनुच्छेदों के सभी उपबन्धों का पालन करने की प्रसंविदाएं अन्तर्विष्ट होंगी।

(2) ज्ञापन या अनुच्छेदों के अधीन कंपनी के किसी सदस्य द्वारा संदेय सभी धनराशियां उससे कंपनी को शोध्य ऋण होंगी ।

कंपनी अधिनियम धारा 10

[ Companies Act Section 10  in English ] –

Effect of memorandum and articles ”–

(1) Subject to the provisions of this Act, the  memorandum and articles shall, when registered, bind the company and the members thereof to the same  extent as if they respectively had been signed by the company and by each member, and contained  covenants on its and his part to observe all the provisions of the memorandum and of the articles. 

(2) All monies payable by any member to the company under the memorandum or articles shall be a  debt due from him to the company.

कंपनी अधिनियम धारा 10


कंपनी अधिनियम 2013  

PDF download in Hindi

Companies Act 2013 PDF

Pdf download in English 


Section 1 Forest Act in Hindi Section 1 Forest Act in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here