संविधान अनुच्छेद 345 | Article 345 of Indian Constitution in Hindi

आजके इस आर्टिकल में मैआपको ” राज्य की राजभाषा या राजभाषाएं | भारतीय संविधान अनुच्छेद 345  | Article 345 of Indian Constitution in Hindi | Article 345 in Hindi | भारतीय संविधान का अनुच्छेद 345 | Official language or languages of a Stateके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय संविधान अनुच्छेद 345 | Article 345 of Indian Constitution in Hindi

[ Indian Constitution Article 345 in Hindi ] –

राज्य की राजभाषा या राजभाषाएं–

अनुच्छेद 346 और अनुच्छेद 347 के उपबंधों के अधीन रहते हुए, किसी राज्य का विधान-मंडल, विधि द्वारा, उस राज्य में प्रयोग होने वाली भाषाओँ में से किसी एक या अधिक भाषाओँ को या हिन्दी को उस राज्य के सभी या किन्हीं शासकीय प्रयोजनों के लिए प्रयोग की जाने वाली भाषा या भाषाओँ के प्ररूप में अंगीकार कर सकेगा :

परन्तु जब तक राज्य का विधान-मंडल, विधि द्वारा, अन्यथा उपबंध न करे तबतक राज्य के भीतर उन शासकीय प्रयोजनों के लिए अंग्रेजी भाषा का प्रयोग किया जाता रहेगा जिनके लिए उसका इस संविधान के प्रारंभ से ठीक पहले प्रयोग किया जा रहा था।

भारतीय संविधान अनुच्छेद 345

[ Indian Constitution Article 345 in English ] –

“Official language or languages of a State”–

Subject to the provisions of articles 346 and 347, the Legislature of a State may by law adopt any one or more of the languages in use in the State or Hindi as the language or languages to be used for all or any of the official purposes of that State:

Provided that, until the Legislature of the State otherwise provides by law, the English language shall continue to be used for those official purposes within the State for which it was being used immediately before the commencement of this Constitution.


भारतीय संविधान अनुच्छेद 345

भारतीय संविधान

Pdf download in hindi

Indian Constitution

Pdf download in English


Article 1 of Indian Constitution in Hindi Article 1 of Indian Constitution in Hindi
Updated: August 21, 2020 — 7:52 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.