संविधान अनुच्छेद 333 | Article 333 of Indian Constitution in Hindi

आजके इस आर्टिकल में मैआपकोराज्यों की विधान सभाओं में आंग्ल-भारतीय समुदाय का प्रतिनिधित्व | भारतीय संविधान अनुच्छेद 333 | Article 333 of Indian Constitution in Hindi | Article 333 in Hindi | भारतीय संविधान का अनुच्छेद 333 | Representation of the Anglo-Indian community in the Legislative Assemblies of the Statesके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय संविधान अनुच्छेद 333 | Article 333 of Indian Constitution in Hindi

[ Indian Constitution Article 333 in Hindi ] –

राज्यों की विधान सभाओं में आंग्ल-भारतीय समुदाय का प्रतिनिधित्व–

अनुच्छेद 170 में किसी बात के होते हुए भी, यदि किसी राज्य के राज्यपाल  [14]*** की यह राय है कि उस राज्य की विधान सभा में आंग्ल-भारतीय समुदाय का प्रतिनिधित्व आवश्यक है और उसमें उसका प्रतिनिधित्व पर्याप्त नहीं है तो वह उस विधान सभा में [15][उस समुदाय का एक सदस्य नामनिर्देशित कर सकेगा

भारतीय संविधान अनुच्छेद 333

[ Indian Constitution Article 333 in English ] –

“Representation of the Anglo-Indian community in the Legislative Assemblies of the States”–

Notwithstanding anything in article 170, the Governor of a State may, if he is of opinion that the Anglo-Indian community needs representation in the Legislative Assembly of the State and is not adequately represented therein, nominate one member of that community to the Assembly.


भारतीय संविधान अनुच्छेद 333

भारतीय संविधान

Pdf download in hindi

Indian Constitution

Pdf download in English


Article 1 of Indian Constitution in Hindi Article 1 of Indian Constitution in Hindi
Updated: August 21, 2020 — 6:27 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.