संविधान अनुच्छेद 318 | Article 318 of Indian Constitution in Hindi

आजके इस आर्टिकल में मैआपकोआयोग के सदस्यों और कर्मचारिवॄंद की सेवा की शर्तों के बारे में विनियम बनाने की शक्ति | भारतीय संविधान अनुच्छेद 318 | Article 318 of Indian Constitution in Hindi | Article 318 in Hindi | भारतीय संविधान का अनुच्छेद 318 | Power to make regulations as to conditions of service of members and staff of the Commissionके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय संविधान अनुच्छेद 318 | Article 318 of Indian Constitution in Hindi

[ Indian Constitution Article 318 in Hindi ] –

आयोग के सदस्यों और कर्मचारिवॄंद की सेवा की शर्तों के बारे में विनियम बनाने की शक्ति —

संघ आयोग या संयुक्त आयोग की दशा में राष्ट्रपति  और राज्य आयोग की दशा में उस राज्य का राज्यपाल 1* * *विनियमों द्वारा —

(क) आयोग के सदस्यों की संख्या और उनकी सेवा की शर्तों का अवधारण कर सकेगा  ; और

(ख) आयोग के कर्मचारिवॄंद के सदस्यों की संख्या और उनकी सेवा की शर्तों के संबंध में उपबंध कर सकेगा :

परंतु  लोक सेवा आयोग के सदस्य की सेवा की शर्तों में उसकी नियुक्ति के पश्चात्  उसके लिए अलाभकारी परिवर्तन  नहीं  किया जाएगा  ।

भारतीय संविधान अनुच्छेद 318

[ Indian Constitution Article 318 in English ] –

“Power to make regulations as to conditions of service of members and staff of the Commission”–

In the case of the Union Commission or a Joint Commission, the President and, in the case of a State Commission, the Governor of the State may by regulations —

(a) determine the number of members of the Commission and their conditions of service; and

(b) make provision with respect to the number of members of the staff of the Commission and their conditions of service:

Provided that the conditions of service of a member of a Public Service Commission shall not be varied to his disadvantage after his appointment.


भारतीय संविधान अनुच्छेद 318

भारतीय संविधान

Pdf download in hindi

Indian Constitution

Pdf download in English


Article 1 of Indian Constitution in Hindi Article 1 of Indian Constitution in Hindi
Updated: August 21, 2020 — 2:13 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.