संविधान अनुच्छेद 270 | Article 270 of Indian Constitution in Hindi

आजके इस आर्टिकल में मैआपकोउद्गॄहीत कर और उनका संघ तथा राज्यों के बीच वितरण | भारतीय संविधान अनुच्छेद 270 | Article 270 of Indian Constitution in Hindi | Article 270 in Hindi | भारतीय संविधान का अनुच्छेद 270 | Taxes levied and distributed between the Union and the Statesके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय संविधान अनुच्छेद 270 | Article 270 of Indian Constitution in Hindi

[ Indian Constitution Article 270 in Hindi ] –

उद्गॄहीत कर और उनका संघ तथा राज्यों के बीच वितरण–

(1) क्रमशः [9][अनुच्छेद 268 और अनुच्छेद 269]में निर्दिष्ट शुल्कों और करों के सिवाय, संघ सूची में निर्दिष्ट सभी कर और शुल्क ; अनुच्छेद 271 में निर्दिष्ट करों और शुल्कों पर अधिभार और संसद् द्वारा बनाई गई किसी विधि के अधीन विनिर्दिष्ट प्रयोजनों के लिए उद्गॄहीत कोई उपकर भारत सरकार द्वारा उद्गॄहीत और संगॄहीत किए  जाएंगे तथा खंड (2) में उपबंधित  रीति से संघ और राज्यों के बीच वितरित किए  जाएंगे ।

(2) किसी वित्तीय वर्ष में किसी ऐसे  कर या शुल्क के शुद्ध आगमों का ऐसा प्रतिशत, जो विहित किया जाए, भारत की संचित निधि का भाग नहीं होगा, किन्तु उन राज्यों को सौंप दिया जाएगा जिनके भीतर वह कर या शुल्क उस वर्ष में उद्ग्रहणीय है और ऐसी  रीति से और ऐसे  समय से, जो खंड (3) में उपबंधित रीति से विहित किया जाए, उन राज्यों के बीच वितरित किया जाएगा  ।

(3) इस अनुच्छेद में, “विहित” से अभिप्रेत है–

(त्) जब तक वित्त आयोग का गठन नहीं  किया जाता है तब तक राष्ट्रपति  द्वारा आदेश द्वारा विहित ; और

(त्त्) वित्त आयोग का गठन किए जाने के पश्चात्  वित्त आयोग की सिफारिशों पर विचार करने के पश्चात्  राष्ट्रपति  द्वारा आदेश द्वारा विहित । ]

भारतीय संविधान अनुच्छेद 270

[ Indian Constitution Article 270 in English ] –

“Taxes levied and distributed between the Union and the States”–

(1) All taxes and duties referred to in the Union List, except the duties and taxes referred to in articles 268 and 269, respectively, surcharge on taxes and duties referred to in article 271 and any cess levied for specific purposes under any law made by Parliament shall be levied and collected by the Government of India and shall be distributed between the Union and the States in the manner provided in clause (2).

(2) Such percentage, as may be prescribed, of the net proceeds of any such tax or duty in any financial year shall not form part of the Consolidated Fund of India, but shall be assigned to the States within which that tax or duty is leviable in that year, and shall be distributed among those States in such manner and from such time as may be prescribed in the manner provided in clause (3).

(3) In this article, “prescribed” means, —

(i) until a Finance Commission has been constituted, prescribed by the President by order, and

(ii) after a Finance Commission has been constituted, prescribed by the President by order after considering the recommendations of the Finance Commission.


भारतीय संविधान अनुच्छेद 270

भारतीय संविधान

Pdf download in hindi

Indian Constitution

Pdf download in English


Article 1 of Indian Constitution in Hindi Article 1 of Indian Constitution in Hindi
Updated: August 19, 2020 — 4:21 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.