संविधान अनुच्छेद 107 | Article 107 of Indian Constitution in Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको विधेयकों के पुरःस्थापन और पारित किए जाने के संबंध में उपबंध  | भारतीय संविधान अनुच्छेद 107 | Article 107 of Indian Constitution in Hindi | Article 107 in Hindi | भारतीय संविधान का अनुच्छेद 107 | Provisions as to introduction and passing of Bills के विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय संविधान अनुच्छेद 107 | Article 107 of Indian Constitution in Hindi

[ Indian Constitution Article 107 in Hindi ] –

विधेयकों के पुरःस्थापन और पारित किए जाने के संबंध में उपबंध–

(1) धन विधेयकों और अन्य वित्त विधेयकों के संबंध में अनुच्छेद 109 और अनुच्छेद 117 के उपबंधों के अधीन रहते हुए, कोई विधेयक संसद के किसी भी सदन में आरंभ हो सकेगा ।

(2) अनुच्छेद 108 और अनुच्छेद 109 के उपबंधों  के अधीन रहते हुए, कोई विधेयक संसद के सदनों द्वारा तब तक पारित किया गया नहीं समझा जाएगा जब तक संशोधन के बिना या केवल ऐसे संशोधनों सहित, जिन पर दोनों सदन सहमत हो गए हैं, उस पर दोनों सदन सहमत नहीं हो जाते हैं ।

(3) संसद में लंबित विधेयक सदनों के सत्रावसान के कारण व्यपगत नहीं  होगा ।

(4) राज्य सभा में लंबित विधेयक, जिसको लोक सभा ने पारित नहीं किया है, लोक सभा के विघटन पर व्यपगत नहीं   होगा ।

(5) कोई विधेयक, जो लोक सभा में लंबित है या जो लोक सभा द्वारा पारित  कर दिया गया है और राज्य सभा में लंबित है, अनुच्छेद 108 के उपबंधों  के अधीन रहते हुए , लोक सभा के विघटन पर व्यपगत हो जाएगा ।

भारतीय संविधान अनुच्छेद 107

[ Indian Constitution Article 107 in English ] –

Provisions as to introduction and passing of Bills ”–

(1) Subject to the provisions of articles 109 and 117 with respect to Money Bills and other financial Bills, a Bill may originate in either House of Parliament. 

(2) Subject to the provisions of articles 108 and 109, a Bill shall not be deemed to have been passed by the Houses of Parliament unless it has been agreed to by both Houses, either without amendment or with such amendments only as are agreed to by both Houses. 

(3) A Bill pending in Parliament shall not lapse by reason of the prorogation of the Houses. 

(4) A Bill pending in the Council of States which has not been passed by the House of the People shall not lapse on a dissolution of the House of the People. 

(5) A Bill which is pending in the House of the People, or which having been passed by the House of the People is pending in the Council of States, shall, subject to the provisions of article 108, lapse on a dissolution of the House of the People.


भारतीय संविधान अनुच्छेद 107

भारतीय संविधान

Pdf download in hindi

Indian Constitution

Pdf download in English


Article 1 of Indian Constitution in Hindi Article 1 of Indian Constitution in Hindi
Updated: August 12, 2020 — 9:04 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.